हादसा- 400 किलो वजन उठाने की कोशिश में रूसी पावर लिफ्टर के दोनों घुटने टूटे, गर्दन टूटने से बची

If you like the post, Please share the link

हादसा- 400 किलो वजन उठाने की कोशिश में रूसी पावर लिफ्टर के दोनों घुटने टूटे, गर्दन टूटने से बची

रूस के पावरलिफ्टर एलेक्जेंडर सदयाख को सर्जरी के बाद अब दो महीने घर पर ही आराम करना पड़ेगा। डॉक्टरों ने उन्हें पैर हिलाने से भी मना किया है। -फाइल
इस हादसे के बाद रूस के पावर लिफ्टर एलेक्जेंडर सदयाख की अस्पताल में 6 घंटे सर्जरी चली डॉक्टरों का कहना है कि सर्जरी के बाद भी वे दोबारा पावरलिफ्टिंग कर पाएंगे या नहीं, अभी यह कहना मुश्किल है।

रूस के पावर लिफ्टर एलेक्जेंडर सदयाख 400 किलो का वजन उठाने की कोशिश में हादसे का शिकार हो गए। उनके दोनों घुटने टूट गए। मौके पर मौजूद सपोर्ट और मेडिकल स्टाफ की सतर्कता से एलेक्जेंडर की गर्दन टूटने से बच गई। हादसा रूस के डोल्गोप्रूडनी शहर में हुई वर्ल्ड रॉ पावरलिफ्टिंग चैम्पियनशिप में हुआ।

हादसे के फौरन बाद उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। जहां 6 घंटे उनकी सर्जरी चली। सर्जरी के बाद डॉक्टरों ने कहा कि पूरी तरह ठीक होने के बावजूद एलेक्जेंडर दोबारा पावरलिफ्टिंग कर पाएंगे या नहीं, यह अभी साफ नहीं है।

एलेक्जेंडर 2 महीने तक अपने पैर भी नहीं हिला पाएंगे डॉक्टरों ने उन्हें दो महीने आराम करने के लिए कहा है। उनकी चोट इतनी गंभीर है कि डॉक्टरों ने उन्हें इस दौरान पैर हिलाने से भी मना किया है। सर्जरी के बाद एलेक्जेंडर ने कहा कि डॉक्टरों ने मुझे बताया है कि मेरे घुटने जोड़ दिए हैं। हादसे में मेरी मांसपेशियां भी फट गईं थीं। अब मुझे दोबारा चलना सीखना होगा। इस चैम्पियनशिप में पावरलिफ्टिंग के अलावा बेंच प्रेस, डेड लिफ्ट और आर्म लिफ्टिंग से जुड़े एथलीट्स ने भी हिस्सा लिया।


If you like the post, Please share the link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed