दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन तैयार करने का इस देश ने किया दावा, कहा- मनुष्यों पर भी सफल रहा ट्रायल

If you like the post, Please share the link

दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन तैयार करने का इस देश ने किया दावा, कहा- मनुष्यों पर भी सफल रहा ट्रायल

मास्को। अमेरिका समेत दुनिया के कई देश कोरोना पर वैक्‍सीन तैयार करने में जुटे हैं। ऐसे में रूस ने कोरोना वायरस की वैक्सीन तैयार करने का दावा किया है। रूस के सेचेनोव विश्वविद्यालय का कहना है कि उसने दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन तैयार कर ली है और इसका मनुष्यों पर ट्रायल भी सफल रहा है।

इंस्टीट्यूट फॉर ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी के निदेशक वदिम तरासोव को बताया कि जिन वॉलेंटियर पर वैक्सीन का परीक्षण किया गया था, उनके पहले बैच को बुधवार को और दूसरे बैच को 20 जुलाई को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

तरासोव के अनुसार, विश्वविद्यालय ने 18 जून को रूस के गेमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा निर्मित टीके का परीक्षण शुरू किया था। विश्वविद्यालय ने पहली वैक्सीन के वॉलेंटियर्स पर सफलतापूर्वक परीक्षण को पूरा कर लिया है।

वहीं, यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल पैरासिटोलॉजी, ट्रॉपिकल एंड वेक्टर-बॉर्न डिजीज के निदेशक अलेक्जेंडर लुकाशेव ने स्पुतनिक को बताया कि इस अध्ययन का मकसद मानव स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए COVID-19 के वैक्सीन को सफलतापूर्वक तैयार करना था।
सुरक्षा के लिहाज से वैक्सीन के सभी पहलुओं की जांच कर ली गई है और यह जल्‍द बाजार में सुलभ होगी।

लुकाशेव ने कहा कि आगे की रणनीति पर भी काम कर लिया गया है और जल्द ही इस बारे में सूचित किया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि कोरोना महामारी से लड़ाई में वैक्सीन तैयार करने में सेचेनोव विश्वविद्यालय ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हमने इस टीके के साथ काम करना शुरू किया।

अध्ययन, प्रोटोकॉल विकास और नैदानिक परीक्षण वर्तमान में चल रहे हैं। गौरतलब है कि अमेरिका समेत दुनिया के कई देश कोरोना पर वैक्‍सीन तैयार करने में जुटे हैं।


If you like the post, Please share the link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed