130 करोड़ भारतीयों की “देशभक्ति” की अग्निपरीक्षा है…

If you like the post, Please share the link

130 करोड़ भारतीयों की “देशभक्ति” का इम्तिहान है…

ख़बर इंडिया। कोरोना संकट की इस घड़ी में पूरा देश लॉकडाउन हो चुका है। अब भी अगर आपको बताने की जरूरत पड़े कि किस कारण तो रहने ही दें आप। बात होगी, सीधी सपाट। अब 21 दिन करें तो करें क्या? वर्क फ्राम होम वाले बेचारे शहरों से घर आ गए। काम कर रहे हैं। सब बंद है। धंधा सब चोपट। वैश्विक मंदी की ओर बढ़ती दुनिया, ताजा-ताजा गरमा-गरमा खबरों से चलता टीवी। बाहर जाना अपने साथ के साथ दूसरों के लिए भी खतरा बन गया है। मोदी जी ने हाथ जोड़कर बोल दिया कि भैया घर रहो। अब दिक्कत क्या है? घर रहो ना। जॉब वाले याद करें वो पल कि आखिरी बार पेरेंट्स के साथ इतने समय तक कब रहे थे। उनको देखो कि वो क्या कर रहे हैं। कैसे जीते हैं। आज भी मां वैसी ही है जो छोड़कर तुम शहर गए थे। सब कुछ वैसे ही है। लेकिन तुम्हारी बैचेनियां बढ़ती जा रही हैं। उन्हें थोड़ी राहत दो।

अंतरराष्ट्रीय समाजसेवी रोशन रतूड़ी कहते हैं एक “माँ “वो है जिसने हमको जन्म दिया है, और एक हमारी “भारत माता “है , जिसकी गोद में “130” करोड़ बच्चे है । हर एक भारतीय “भाई-बहन” का देशहित के,लिये ज़िम्मेदारी बनती है। जितनी ज़िम्मेदारी देश के प्रधानमंत्री जी पर थोपते हो, उतनी ही ज़िम्मेदारी हम सब भारतवासियों की भी बनती है । देश सबका है । देश की वजह से ही, हम सबको विश्वा में पहचान मिली है,भारत देश ने हमको सबकुछ दिया है । आज 130 करोड़ भारतीयों की “देशभक्ति” का इम्तिहान है । सारे जहाँ से अच्छा, हिंदुस्ता हमारा ।

भारत माता की जय ।


If you like the post, Please share the link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed