जीवन में कभी नहीं होंगे डायबिटीज, हार्ट अटैक, बीपी जैसे रोग, बस रोज खायें ये 4 चीजें

If you like the post, Please share the link

हार्ट अटैक, डायबिटीज और बीपी को करना है कंट्रोल तो डेली डाइट में शामिल करें ये 4 फूड
आप रोजाना 20 किलोमीटर दौड़ सकते हैं तो शौक से खायें मांस

देहरादून। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में डायबिटीज, हार्ट अटैक व बीपी की समस्या हर दूसरे व्यक्ति को है। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आपको डायबिटीज हार्ट अटैक और बीपी जैसे रोगों से बचने के लिए किन चीजों का सेवन करना चाहिए। अगर आप हेल्दी रहना चाहते हैं तो अपनी डेली डाइट में फाइबर रिच फूड जरूर शामिल करिए। भागदौड़ भरी जिंदगी में हमें अपनी डाइट की जरूरतों का ध्यान रखना याद नहीं रहता है. हम जो भी खाते हैं, वह हमारे शरीर की केवल कुछ जरूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त होता है। हमारे शरीर के लिए साइबर महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। फाइबर शरीर में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने में मदद करता है. जर्नल साइंस में प्रकाशित एक स्टडी के मुताबिक, डायटरी फाइबर की खपत से टाइप 2 डाइबिटीज से भी लड़ने में मदद करता है। अलसी-अलसी फाइबर का खजाना है। रोजाना अलसी के सेवन से दिल की बीमारियां कम होती है और स्ट्रोक का खतरा भी कम होता है। ब्लड शुगर लेवल और इंसुलिन सेंसिटिवटी पर भी नियंत्रण करता है।

ये है आपकी सेहत के लिये डेली डाइट
1) फल-सब्जियों का अधिक सेवन – बेहतर स्वास्थ्य के लिए बेहतर खान-पान बहुत जरूरी है। स्वस्थ शरीर के लिए 50 फीसदी पोषण फल-सब्जियों और साबुत अनाजों से मिलना चाहिए। इस नजरिये गरीब सबसे ज्यादा स्वस्थ होते हैं क्योंकि वो बाजार में मिल रही फालतू चीजों के बजाय अनाज और सब्जियां खाते हैं।
2) गुड़-चना- अगर आप गुड़ -चना खाना पसंद करते हैं तो समझ लो कि इससे हेल्दी चीज कुछ नहीं है। गुड़-चने के नियमित सेवन से आप डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हार्ट अटैक, ब्लड प्रेशर कोरोनरी आर्टरी डिजीज से बचा जा सकता है। इसके अलावा मूंगफली का सेवन भी किया जा सकता है।
3) नैचुरल प्रोटीन – हेल्दी और फिट रहने के लिए बॉडीबिल्डिंग करना भी एक बेहतर विकल्प है लेकिन आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। अगर आप जिम जाना शुरू कर देते हैं, तो आपको इसे छोड़ना नहीं चाहिए। इसके अलावा आपको जिम के साथ अगर प्रोटीन लेना है, तो नैचुरल प्रोटीन ही लें, आर्टिफिशियल प्रोटीन आपकी सेहत को बर्बाद कर सकता है। बेहतर है कि आप व्हे प्रोटीन लें और वो भी डॉक्टर की सलाह पर।

4) इन बातों का भी रखें खयाल – इसके अलावा आपको खूब पैदल चलना चाहिए। हर व्यक्ति को दिनभर में कम से कम 80 मिनट चलना चाहिए। एक हफ्ते में 80 मिनट तेज चलें और एक मिनट में 80 कदम चलना चाहिए। नॉन-वेज चीजों का सेवन तभी करना चाहिए, जब आप उसके काबिल बन जायें। अगर आपको नॉनवेज खाना है, तो आपको रोजाना फिजिकल एक्टिविटी में शामिल रहना चाहिए, तभी आपका शरीर मांस को बेहतर तरीके से पचा सकता है।

कुल मिलाकर यदि आप रोजाना 20 मील दौड़ते हैं, तो ही मांस खायें, वरना हजम नहीं होगा और आप धीरे-धीरे दिल के विकारों से पीड़ित होने लगेंगे। इसलिए ज्यादा खाएं ज्यादा काम भी करें ताकि आपका भोजन आसानी से पाचन हो जाये और आप हेल्दी बन सकेंगे।


If you like the post, Please share the link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed