रोशन रतूड़ी ने किया खुलासा कौन रच रहा है मेरे खिलाफ साजिश

If you like the post, Please share the link

रोशन रतूड़ी ने किया खुलासा कौन रच रहा है मेरे खिलाफ साजिश

गीदड़ भभकियों से नहीं डरता में- रोशन रतूड़ी

झूठी अफवाह न फैलाएं, राजनीति में नहीं आ रहा हूं में- रोशन

देहरादून। अंतर्रराष्ट्रीय समाजसेवी रोशन रतूड़ी ने अपनी निस्वार्थ समाजसेवा की बदौलत देश और दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। विदेशी धरती पर जब किसी भी किसी होटलियर भाई-बहिन या अन्य व्यक्ति ने मद्द के लिये पुकारा तो रोशन रतूड़ी ने भी कभी किसी को निराश नहीं किया। यही वजह है कि बेहद कम समय में रोशन रतूड़ी के सोशल मीडिया में लगभग 2.5 लाख के आस-पास फालोअर्स हैं। जिसमें उत्तराखंड से जुड़े लोगों की एक बड़ी तादात है। समर्थक उन्हें विदेशी धरती पर देवभूमि का देवदूत कहते हैं। कम समय में बढ़ती लोकप्रियता के कारण रोशन रतूड़ी सोशल मीडिया में कुछ लोगों के निशाने पर हैं। इन्हीं सब मुद्दों को लेकर रोशन रतूड़ी ने विचार एक नई सोच न्यूज पोर्टल से खुलकर अपने दिल की बातें साझा की।

सवाल-1 सोशल मीडिया में चर्चाओं का बाजार गर्म है कि रोशन रतूड़ी राजनीति में आ रहे हैं..?

उत्तर – अफवाहों पर भरोसा मत कीजिये। मेरी बात सुनिये राजनीति एक दलदल है मुझे इस दलदल में बिल्कुल भी नहीं आना है। में जनता का सेवक हूं और मेरा पूरा जीवन आम जनता के लिये समर्पित हैं। में अपने काम से बहुत खुश हूं। मेरा नाम किसी भी प्रकार की राजनीति में न घसीटा जाये। में जनता का सेवक हूं। मेरी कोई दूर-दूर तक राजनीति में आने की कोई महत्वकांक्षा नहीं है। कुछ लोग सोशल मीडिया के जरिये कैंपेने चलाकर जानबूझकर मेरा नाम घसीटकर मुझे बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं।

सवाल-2 कौन लोग हैं जो आपको लेकर साजिश रच रहे हैं..? आपको नुकसान पहुंचाकर उनको क्या फायदा..?

उत्तर- मैने सोशल मीडिया के जरिये भोले भाले लोगों को विदेश भेजने वाले दलालों को लेकर अभियान चलाया हुआ है। भारत सरकार के साथ ही अन्य देशों की सरकारों को पत्र लिखकर व सोशल मीडिया के माध्यम से कहा है कि इन दलालों पर कार्रवाही कीजिये। जब से यह अभियान शुरू किया है तब से बड़ी संख्या में लोग जागरूक होने लगे हैं। जिसके बाद हिन्दुस्तान में बहुत से दलाल लोगों का धंधा चैपट हो गया है। यह ऐंजेंट बहुत परेशान हैं। नकली बीजा का धंधा करने वालों का भांडाफोड़ किया है। यही लोग तिलमिलायें हुई हैं। कानूनी रूप से तो कुछ कर नहीं सकते हैं। सोशल मीडिया में मेरे खिलाफ जहर उगल रहे हैं। मुझे बदनाम करने के लिये कैंपेन चला रहे हैं। मुझ पर भरोसा करने वाले सब जानते हैं। झूठ कितना भी चिल्ला चिल्ला के बोला जाये वह झूठ ही होता है।

सवाल- 3 सोशल मीडिया में कुछ लोग आपको चुनौती देते हुए नजर आते हैं..?
जवाब – में जनता का एक सामान्य सा सेवक हूं। जनता सब जानती है कौन सही है और कौन राजनीतिक रोटियां सेक रहा है। में किसी राजनीति पार्टी का व्यक्ति नहीं कि कोई मुझे चुनौती देगा। समाज में जब कुछ लोग आगे बढ़ते हैं तो कुछ लोगों को यह पंसद नहीं आता। वह उसको गिराने के लिये तरह तरह की चाले चलते हैं। लेकिन में एक बाद साफ कर देना चाहता हूं कि इन गीदड़ भभकियों का मुझ पर कोई असर नहीं होता। में कल भी निस्वार्थ भाव से जनता की मद्द कर रहा था, आज भी कर रहा हूं, आगे भी करता रहूंगा।

सवाल-4 भारतीय राजनीति में किस राजनेता को पंसद करते हैं..?
उत्तर – भारतीय राजनीति में बहुत से अलग-अलग दलों के राजनेता हैं जिनसे मेरे व्यक्तिगत संबध हैं। हर नेता में अलग-अलग खूबिया हैं। हां भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी से बहुत प्रभावित हूं। उनकी नेतृत्व छमता का में कायल हूं। उनके नेतृत्व में भारत की एक अलग छवि पूरे विश्व में बनी है। हिन्दुस्तान ही नहीं विदेशी जनता में भी अन्य राजनेताओं के मुकाबले उनकी लोकप्रियता का ग्राफ सबसे ज्यादा है। कोरोना संकट में जिस तरह के दूरदर्शी निर्णय उन्होंने लिये हैं उसकी पूरा विश्व सराहना कर रहा है।

सवाल- 5 प्रधानमंत्री मोदी जी से आपकी कुछ मांग..?
उत्तर – मेरा माननीय प्रधानमंत्री जी से इतना ही आग्रह है कि विदेशी धरती पर अगर किसी होटलियर भाई-बहन की अकास्मिक मौत हो जाती है तो उसके परिवार को कुछ आर्थिक मद्द जरूर की जाये ताकि बुरे बक्त में उनके परिवार को कुछ सहारा मिल सके।

रोशन रतूड़ी के बारे में ज्यादा जानने के लिये जरूर पंढ़े….

दुबई में क्लीनिंग एवं टेक्निकल सर्विसेज लिमिटेड कंपनी के मालिक, आरआर हृयूमैनिटी सामाजिक संगठन के संचालक रोशन रतूड़ी विदेशों में फंसे भारतीयों के लिए किसी हीरो से कम नहीं हैं। रोशन रतूड़ी ने अपना पूरा जीवन समाजसेवा को सर्मपित कर दिया है। रोशन रतूड़ी ने बताया कि उनका मकसद समाज की सेवा करना था। फूड सेफ्टी मैनेजमेंट एवं बिजनेस मैनेजमेंट की शिक्षा लेने के बाद 2004 से ओमान मस्कट में रेस्त्रां चलाने के बाद 2015 में दुबई आए और यहां कंपनी की शुरुआत की। विदेशों में उन्हें टूरिस्ट या एंप्लाइमेंट वीजा लेकर आने वाले भारतीय फंसकर अपनी जिंदगी बर्बाद करते मिले। इस पर ऐसे भारतीय को बचाकर सकुशल उनके घर तक पहुंचाने को रोशन ने मिशन बना लिया और अब तक वह भारतीय नागरिकों समेत बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल, पाकिस्तान, वियतनाम, मलयेशिया, थाईलैंड, फिलीपींस और केन्या आदि देशों के लोगों को उनके परिवारों से मिलवा चुके हैं। वह फंसे हुए लोगों को बचाने के लिए दुनिया के किसी भी कोने में पहुंच जाते हैं। यहीं नहीं विदेशों धरती में अकास्मिक रूप से मरने वाले भारतीयों समेत अन्य देशों के लोगों की मद्द व उनके शव को अपने खर्च पर उनके देश भिजवाने के लिये भी हमेशा तैयार रहते हैं। अब तक वह विदेशों में फंसे 2 हजार से अधिक लोगों की मद्द कर चुके हैं।
रोशन ने आरआर हृयूमैनिटी देवभूमि उत्तराखंड के नाम से संगठन भी बना रखा है। विदेशों में फंसे लोगों को उनके घर तक भेजने में जो भी खर्च आता है, उसे वह अपनी कंपनी से होने वाली आय से खर्च करते हैं। रतूड़ी मूलरूप से बिटूला जिला टिहरी गढ़वाल निवासी हैं। वह स्व. गोविंद राम रतूड़ी और स्व. भरोसी देवी रतूड़ी के बेटे हैं। 39 वर्षीय रोशन का परिवार 1980 में भगवानपुर भाऊवाला देहरादून में आकर बस गया था। वर्तमान में उनका परिवार भगवानपुर भाऊवाला, सहसपुर विधानसभा क्षेत्र, देहरादून में रहता है। उनके पिता गोविंद राम टिहरी में रेस्त्रां चलाते थे और 2016 में उनका निधन हो गया। पांच भाई-बहन में सबसे बड़े भाई बीएसएफ में अधिकारी हैं। उनसे छोटे मस्कट में ऑन रेट्रो हैं और तीसरे वाले भाई कनाडियन हैं। सबसे छोटी बहन देहरादून में रहती है।
रोशन बताते हैं कि वह सरकार की मदद के बिना ही काम करते हैं। अपनी कंपनी से कमाकर लोगों की मदद करना ही उनकी सेवा बन गई है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को एजेंटों के माध्यम से विदेश भेजने पर रोक लगानी चाहिए। कहा कि भारत सच में सबसे सुंदर और संस्कृतियों की धरोहर वाला देश है। वह भविष्य में दुबई से आकर उत्तराखंड में ही रहना चाहते हैं।


If you like the post, Please share the link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed