खबर इंडियादिल्लीवीडियो

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत नाजुक, हाल-चाल जानने एम्स पहुंचे मोदी

लाल किले पर भाषण में मोदी ने अटल को किया था याद

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत नाजुक, हाल-चाल जानने एम्स पहुंचे मोदी

 

लाल किले पर भाषण में मोदी ने अटल को किया था याद

– आखिरी बार अटलजी की तस्वीर 2015 में तब सामने आई, जब तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब ने उन्हें भारत रत्न दिया

– 13 साल पहले लिया था सक्रिय राजनीति से संन्यास, मुंबई की रैली में किया था ऐलान

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को एम्स में भर्ती अटल बिहारी वाजपेयी का हालचाल जानने पहुंचे। उन्हें यूरिन इन्फेक्शन की शिकायत के चलते 11 जून को एम्स में भर्ती किया गया था। वे पिछले 9 साल से बीमार चल रहे हैं। मोदी से पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी उनसे मिलने एम्स पहुंचीं।पिछले कई दिनों ने दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत में कोई सुधार नहीं हुआ है. बुधवार को उनकी तबीयत में और गिरावट आई. वाजपेयी के हालचाल जानने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एम्स पहुंचे. इससे पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी एम्स जाकर पूर्व प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली. उधर, एम्स प्रशासन ने कहा कि उनकी हालत स्थिर बनी हुई है. उन्हें पिछले 3 दिनों से वेंटिलेटर पर रखा गया है.
जानकार बताते हैं कि एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने बुधवार की सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वाजपेयी के स्वास्थ्य की जानकारी दी थी. इसके बाद स्मृति ईरानी उन्हें देखने के लिए एम्स पहुंची थीं. स्मृति ईरानी ने वाजपेयी का इलाज कर रहे डॉक्टरों ने मुलाकात की और पूर्व प्रधानमंत्री के स्वास्थ्य की जानकारी ली.

पूर्व प्रधानमंत्री को बीते 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. उन्हें यूटीआई इंफेक्शन, लीवर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इंफेक्शन और किडनी संबंधी बीमारियों के कारण हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था.

लंबे समय से बीमार हैं वाजपेयी
अटल बिहारी वाजपेयी काफी समय से बीमार चल रहे हैं. वह कई सालों से नई दिल्ली में 6-ए कृष्णामेनन मार्ग स्थित सरकारी आवास में रहते हैं. उन्होंने उठने-बैठने और बोलने में परेशानी होती है. कुछ समय से तो उन्हें लोगों को पहचानने में भी दिक्कत हो रही है. उनके निवास पर ही एम्स के डॉक्टरों की टीम उनकी देखरेख के लिए तैनात थी. बता दें कि जून, 2001 में वाजपेयी के घुटनों का ऑपरेशन हुआ था उसके बाद उनका स्वास्थ लगातार गिरने लगा था.

लाल किले पर भाषण में मोदी ने अटल को किया था याद : 72वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले पर भाषण के दौरान नरेंद्र मोदी ने आज अटल बिहारी वाजपेयी को याद किया। उन्होंने कहा- कश्मीर के मुद्दे का हल निकालते वक्त हम अटलजी के नजरिये पर चलेंगे, जो इंसानियत, कश्मीरियत और जम्हूरियत पर आधारित था।2009 में तबीयत बिगड़ी, वेंटिलेटर पर रखा गया
– 2009 में वाजपेयी की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें सांस लेने में दिक्कत के बाद कई दिन वेंटिलेटर पर रखा गया। हालांकि, बाद में वह ठीक हो गए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।
– इसके बाद कहा गया कि वाजपेयी लकवे के शिकार हैं। इस वजह से वह किसी से बोलते नहीं थे। बाद में उन्हें स्मृति लोप भी हो गया। उन्होंने लोगों को पहचानना भी बंद कर दिया।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close