खबर इंडियाहरियाणा

महिला कर्मचारी बोली बार-बार बुलाता है अधिकारी, करता है छेड़खानी

महिला ने सीएम विंडो पर भेजी शिकायत, मचा हड़कंप

महिला कर्मचारी बोली बार-बार बुलाता है अधिकारी, करता है छेड़खानी

महिला ने सीएम विंडो पर भेजी शिकायत, मचा हड़कंप

सिरसा। महिलाएं घर की चारदीवारी से निकलकर हर क्षेत्र में तरक्की कर रही हैं। टीचर, प्रोफेसर, बैंक मैनेजर, साइंटिस्ट से लेकर आर्मी ऑफिसर की भूमिका में वो देश को अपनी सेवाएं दे रही हैं। खुद का बिजनेस भी कर रही हैं। लेकिन इस तरक्की के साथ-साथ उन्हें कई चुनौतियों से भी निपटना पड़ रहा है। इनमें से सबसे बड़ी है सेक्सुअल हैरेसमेंट, ऑफिसेस में उनके साथ छेड़छाड़, अश्लील हरकतें और रेप जैसी घटनाएं तक हो रही हैं। महिला सशक्तिकरण की बात करने वाले भाजपा शासनकाल में आये छेड़खानी के मामले ने सोचने पर मजबूर कर दिया है। चोधरी देवीलाल विश्वविद्यालय (सीडीएलयू) में एक महिला कर्मचारी ने एक अधिकारी पर छेड़खानी व प्रताड़ित करने के आरोप लगाए हैं। महिला ने सीएम विंडो पर शिकायत भेजी है। सीएम विंडो के साथ-साथ शिकायत की कॉपी सीडीएलयू के कुलसचिव, महिला आयोग दिल्ली, सचिव राज्यपाल को भी प्रेषित की है। शिकायत में महिला कर्मचारी ने बताया कि छुट्टी के बाद भी अधिकारी अक्सर मुझे अपने ऑफिस में बुलाता है। जब वह समय बीत जाने के बाद भी जाने को कहती हूं तो जबरदस्ती बैठने को कहता है। अवकाश के दिन कोई अन्य पुरूष कर्मचारी नहीं था। उससे कई बार अभद्र व्यवहार किया।

अधिकारी मुझे अपने आॅफिस में बुलाता है बार-बार
अधिकारी मुझे बार-बार बुलाता रहता है और नौकरी से हटाने की धमकी देता है। इसे लेकर कई बार उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया, लेकिन तीन माह बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से कार्रवाई न किए जाने से अधिकारी का हौसला और भी बढ़ गया।

आरोपी अधिकारी का रहा है पीछे रिकॉर्ड खराब
विवि प्रशासन इतना कुछ होने के बाद भी कोई कार्रवाई न कर अधिकारी के साथ होने का प्रमाण दे रहा है। उक्त अधिकारी का पीछे भी रिकॉर्ड खराब रहा है। मेरी मांग है कि विवि में चल रहे इस घटनाक्रम पर रोक लगाई जाए, ताकि महिला कर्मचारी तनावमुक्त होकर अपना कार्य कर सकें।
नॉन टीचिंग एसोसिएशन के प्रधान बजरंग शर्मा का कहना है कि हमारे पास शिकायत की कॉपी भेजी गई है। जिसमें एक महिला कर्मचारी ने एक अधिकारी पर छेड़खाने करने व प्रताड़ित करने के आरोप लगाए है।

Tags
Show More

Related Articles

One Comment

  1. भाईसाहब ऐसे अधिकारीयों को उनके ही परिवार वालों के सामने इतना जलील करना चाहिये कि वह कभी भी आगे ऐसा करने की सोच भी ना सके,साथ ही साथ नौकरी से भी निकाल देना चाहिये तभी समाज के लागों को सबक मिलेगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close