खबर इंडियासोशल मीडिया

इस शहर में बनाया गया देश का सबसे मंहगा पब्लिक टाॅयलेट

ऐसा आधुनिक टॉयलेट जिसकी कीमत जान चैंक जाएंगे आप

इस शहर में बनाया गया देश का सबसे मंहगा पब्लिक टाॅयलेट

ऐसा आधुनिक टॉयलेट जिसकी कीमत जान चैंक जाएंगे आप

मुंबई । यूं तो आपने कई टाॅयलेट देखे होंगे लेकिन क्या आपको पता है इस शहर में है देश का सबसे मंहगा पब्लिक टाॅयलेट? ऐसा आधुनिक टाॅयलेट जिसकी कीमत जानकर चोंक जाएंगे आप। जी हां देश की आर्थिक राजधानी और मायानगरी मुंबई के मरीन ड्राइव पर 90 लाख रूपये कीमत का पब्लिक टॉयलेट बनाया गया है।

बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (BMC) ने मंगलवार को जनता के इस्तेमाल के लिए खोला है। इस टॉयलेट का निर्माण जिंदल समूह और सैमाटेक द्वारा कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (CSR) के तहत किया गया है। नगर निगम पहले दो महीने तक इसे लोगों को मुफ्त में इस्तेमाल करने की इजाजत देगा, बाद में चार्ज लिया जाएगा। आमतौर पर बीएमसी के एक पब्लिक टॉयलेट के निर्माण पर 25 से 30 लाख रुपये खर्च होते हैं. लेकिन नगर निगम को इस टॉयलेट के लिए बिल्डिंग मटीरियल और डिजाइन वर्क फ्री में मिला है।

इस पब्लिक टॉयलेट में तमाम आधुनिक सुविधाएं दी गई हैं। इसमें बिजली के सप्लाई के लिए सोलर पैनल और पानी की बचत के लिए वैक्यूम सिस्टम लगाया गया है। मरीन ड्राइव पर बहुत बड़ी तादाद में लोग घूमने के लिए आते हैं। इस टॉयलेट के इस्तेमाल करने के लिए पैसे नहीं खर्च करने होंगे। इसका इतेमाल मुफ्त में किया जा सकेगा। खरह स्टील, समटेक फाउंडेशन, समटेक कंपनी की सामाजिक विकास शाखा और नरीमन प्वाइंट चर्चगेट नागरिक संघ ने मिलकर इस टॉयलेट का निर्माण कराया है।

आधुनिक तकनीक से बनाये गए इस टॉयलेट में पानी की बचत का खासा ध्यान रखा गया है। जहां साधारण शौचालय में फ्लश के लिए आम तौर पर आठ लीटर पानी की आवश्यकता होती है, लेकिन इस टॉयलेट में एक फ्लश के लिए केवल 800 मिलीलीटर पानी का उपयोग होता है। आधुनिक वैक्यूम टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल से गंदे सीवर के पानी को समुद्र में जाने से रोका जा सकेगा। इस टॉयलेट की डिजाइनिंग डेको आर्किटेक्चर ने की है और इसका निर्माण वेदरिंग स्टील से किया गया है। टॉयलेट की छत पर सोलर पैनल लगाए गए हैं जिनसे टॉयलेट की बिजली की जरूरत पूरी हो जाएगी। साथ ही इस टॉयलेट से निकलने वाले मल आदि को सीवेज टैंक में भरकर बीएमसी के सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में भेजा जाएगा।

Tags
Show More

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close