खबर इंडियादिल्ली

एक्सक्लूसिव :- आपको पता है भाजपा का ऑपरेशन ‘लोटस’ सीक्रेट

ऑपरेशन ‘लोटस’ को लेकर जल्दबाजी में नहीं भाजपा, ये है सीक्रेट प्लान

एक्सक्लूसिव :- आपको पता है भाजपा का ऑपरेशन ‘लोटस’ सीक्रेट

ऑपरेशन ‘लोटस’ को लेकर जल्दबाजी में नहीं भाजपा, ये है सीक्रेट प्लान

नई दिल्ली। भाजपा अपने सीक्रेट ऑपरेशन ‘लोटस’ प्लान को लेकर फूंक फूंक कर कदम रख रही है। अपने इस ऑपरेशन ‘लोटस’ को लेकर भाजपा बिल्कुल भी जल्दबाजी के मूड में नहीं है। दरअसल भाजपा नेतृत्व को पता है कि ऑपरेशन लोटस को अमलीजामा पहनाने में चूक हुई, तो पार्टी की फजीहत होगी और लोकसभा चुनाव में इस पर असर पड़ेगा। इसलिए नेतृत्व चाहता है कि कुमारस्वामी सरकार पर ऐसे समय धावा बोला जाय जब चूक की कोई गुंजाइश न बचे। चूंकि पार्टी दो वर्ष पूर्व गुजरात राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस महासचिव अहमद पटेल से मात खाने के बाद आलोचनाओं का शिकार हो चुकी है, इसलिए पार्टी अब कोई खतरा नहीं उठाना चाहती। कर्नाटक में कुमारस्वामी सरकार से दो निर्दलीय विधायकों की समर्थन वापसी और सियासी उथल-पुथल के बीच भाजपा को अब कांग्रेस में बड़ी टृट का इंतजार है।
पार्टी ‘ऑपरेशन लोटस’ को अमलीजामा पहनाने को लेकर जल्दबाजी में नहीं है। बताया जाता है कि कांग्रेस के पांच विधायक भाजपा के संपर्क में हैं। फिलहाल किसी तरह की चूक से बचने के लिए पार्टी को कम से कम दो और विधायकों के टूटने का इंतजार है। पार्टी ने पूरी तरह सोची-समझी रणनीति के तहत अपने 104 विधायकों को गुरुग्राम के रिजॉर्ट में रखा है। इस मामले में पार्टी को जहां एक ओर कांग्रेस-जेडीएस के पलटवार का अंदेशा है, वहीं इससे यह सियासी धारणा भी बन रही है कि राज्य में विधायकों के तोड़फोड़ में कांग्रेस-जेडीएस भी लगी हुई है।
कर्नाटक में दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन वापस लेने के बाद 225 सदस्यीय विधानसभा में फिलहाल कुमारस्वामी सरकार को 117 विधायकों का समर्थन प्राप्त है। यह आंकड़ा बहुमत से चार ज्यादा है। माना जा रहा है कि पांच विधायक भाजपा के संपर्क में हैं। भाजपा यदि इन विधायकों को साध कर अविश्वास प्रस्ताव पेश करती है, तो बात बन जाएगी। मगर इसमें खतरा यह है कि ऐन मौके पर एक भी बागी विधायक ने पाला बदला, तो भाजपा को लेने के देने पड़ जाएंगे। यही कारण है कि पार्टी नेतृत्व सत्ताधारी गठबंधन के कम से कम दो-तीन और विधायकों के टूटने का इंतजार कर रहा है।
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close