खबर इंडियाछत्तीसगढ़

पंचायत का तुगलकी फरमान, तीन युवतियों से दुष्कर्म की सजा 30 हजार

जुर्माने के पैसों से मटन खरीदकर पूरे गांव ने मनाया जश्न

पंचायत का तुगलकी फरमान, तीन युवतियों से दुष्कर्म की सजा 30 हजार

जुर्माने के पैसों से मटन खरीदकर पूरे गांव ने मनाया जश्न

जशपुर। सोशल मीडिया में आज एक ऐसी खबर आई जिसने सोचने पर मजबूर कर दिया कि आज भी हमारे देश के कई इलाकों में पंचायत कानून और रूड़ीवादी मानसिकता नहीं बदली है। जब आप भी इस खबर को पूरा पढ़ेंगे तो सोचने के लिए मजबूर हो जायेंगे कि क्या वाकई ऐसा हो सकता है। तीन युवतियों से दुष्कर्म की सजा तीस हजार और साथ में पूरे गांव ने इस बात पर मटन पार्टी कर जश्न मनाया। छत्तीसगढ़ के आदिवासी बाहुल्य जिले जशपुर में एक शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। जशपुर के मनोरा ब्लाक के एक गांव में तीन बच्चियों से दुष्कर्म के बाद गांव में जश्न मनाने की जानकारी पुलिस को मिली है। बताया जा रहा है कि गांववालों ने जश्न के दौरान मटन बनाकर खाया। जिले के मनोरा विकासखंड में दुष्कर्म के एक मामले में पंचायत ने दुष्कर्मी के परिवार से करीब 30 हजार रूपए वसूले और इस पैसे से ग्रामीणों ने मटन पार्टी की।

पंचायत ने पीड़ित पक्ष को पुलिस के पास नहीं जाने दिया
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक मनोरा विकासखंड की रेमने पंचायत में बीते दिनों तीन लड़कियां किसी काम से घर से बाहर गई थी। इसमें एक लड़की बालिग और दो बच्चियां नाबालिग थी। जिनसे गांव के कुछ युवकों ने दुष्कर्म किया। जब तीनों लड़कियां देर तक घर नहीं पहुंची तो उनका पिता उन्हें खोजने के लिए निकला। जब लड़कियां मिली तो युवक आपत्तिजनक अवस्था में मिले और पिता को देखते ही फरार हो गए। इसके बाद पिता जब पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराने जा रहे थे तो पंचायत ने पीड़ित पक्ष को पुलिस के पास जाने से रोक दिया और पंचायत में ही न्याय दिलाने की बात कही।

रेप के आरोपियों को 30 हजार रुपए में किया माफ
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक इस मामले में जब पंचायत बैठी तो इसमें गांव के सभी लोग बैठे और पंचायत ने पीड़ित परिवार को 30 हजार रूपए देने का फैसला सुनाया गया। मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी के पिता से वसूली गई रकम में से कुछ पैसों से मटन खरीदकर पूरे गांव द्वारा जश्न मनाया गया। जबकि बाकि बचे हुए पैसों को आपस में बांट लिया गया। गांव के पंचायत के सरपंच नारायण भगत खुद स्वीकार करते हैं कि हमने यह मामला आपस में सुलझा लिया है। सोशल मीडिया में पंचायत के इस निर्णय की जमकर निंदा की जा रही है। साथ ही पुलिस प्रशासन से पीड़ित लड़कियों को न्याय दिलाने के साथ ही आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त सजा की मांग की जा रही है।

Tags
Show More

Related Articles

One Comment

  1. हद हो गई, लानत है ऐसे लोगों पर ,बडे ही शर्म की बात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close