खबर इंडियागुजरात

सोशल मीडिया पर अफवाह फैली तो एडमिन भी फंस सकते हैं पुलिस शिकंजे में

'Whatsapp ग्रुपों से फैली अफवाह तो ग्रुप एडमिन पर भी होगी कार्रवाई'

सोशल मीडिया पर अफवाह फैली तो एडमिन भी फंस सकते हैं पुलिस शिकंजे में

‘Whatsapp ग्रुपों से फैली अफवाह तो ग्रुप एडमिन पर भी होगी कार्रवाई’

अहमदाबाद।  सोशल मीडिया में चल रही अफवाह आपके ग्रुप में आ जाती है तो एडमिन को उसे तुरंत डिलीट कर अधिक फैलने से रोकना होगा। साथ ही, इस संबंध में पुलिस को सूचित कर अफवाह फैलाने वाले की जानकारी देनी होगी। भ्रामक खबरों और अफवाहों पर लगाम कसने के लिए एक आदेश जारी कर हिदायत दी है कि सोशल मीडिया और वाट्सएेप पर किसी भी अफवाह, गलत तथ्यों से भरी या समाजिक समरसता के विरूद्ध पोस्ट पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति के साथ ही ग्रुप एडमिन पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सोशल मीडिया पर स्वतंत्रता के साथ ही जिम्मेदारी भी आवश्यक है। एडमिन वही बने जो उस ग्रुप की पूरी जिम्मेदारी उठाने में समर्थ हो और ग्रुप के सभी सदस्यों से परिचित हो। कोई सदस्य गलत बयानी, बिना पुष्टि के समाचार जो अफवाह बन जाए, पोस्ट करता है तो एडमिन खंडन के साथ एेसे सदस्य को फौरन गु्रप से हटाये। अफवाह भ्रामक तथ्य व सामाजिक समरसता के विरूद्ध पोस्ट होने पर फौरन सम्बधित थाने को सूचित करे। ग्रुप एडमिन के कार्रवाई न करने पर उन्हें भी इसका दोषी माना जाएगा और उनके विरूद्ध भी कार्रवाई की जाएगी। एेसे मामलों में कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बच्चा चोर गिरोह का संदेश अफवाह था लोग भयभीत ना हो 

गुजरात के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने बताया कि गुजरात में मंगलवार को बच्चा चोर गिरोह का मैसेज वायरल हुआ, जो अफवाह फैलाने की हरकत थी, पुलिस इस तरह की हरकत करने वालों के खिलाफ सख्ती से पेश आएगी। वाट्सएप एडमिन भी अपने समूह में ऐसा संदेश आए तो तुरंत डिलीट करें तथा अफवाह को फैलने से रोकें, अन्यथा एडमिन भी मुश्किल में फंस सकता है।गुजरात में बच्चा चोर गिरोह की अफवाह के बाद छह शहरों में बिगडी कानून व्यवस्था से परेशान सरकार ने सोशल मीडिया पर वॉच बढ़ाने के साथ उसके यूजर को भी सतर्क रहने को कहा गया है। गंभीर व अराजकता फैलाने वाले संदेश को लेकर पुलिस को भी सूचित किया जाए, ताकि ऐसे लोगों से निपटा जा सके। जाडेजा ने गुजरात की जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि बच्चा चोर गिरोह का संदेश अफवाह था लोग भयभीत ना हो तथा उत्तेजना में नहीं आएं। मंगलवार शाम पुलिस ने इस अफवाह के लिए पाकिस्तानी एडमिन की हरकत बताते हुए राज्य में शांति व्यवस्था बिगाड़ने के लिए किया गया कृत्य बताया था।

सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों को रोकने में करें मदद

वाट्सएप के अलावा फेसबुक व ट्विटर पर ऐसी अफवाह को लेकर भी सरकार ने कहा है कि तुरंत ऐसी सूचना की जानकारी पुलिस को देने के साथ अफवाह को फैलने से रोकने के निर्देश जारी किए हैं। जाडेजा ने राज्य के पुलिस अधिकारियों से भी कहा है कि मीडिया, टीवी चैनल, एफएम, रेडिया व लोकसंपर्क के जरिए लोगों को जागरूक कर सच्चाई से अवगत कराएं। सरकार ने एंटी ह्युमन ट्रेफिकिंग यूनिट, स्पेशल जुवेनाइल पुलिस, चाइल्ड वेलफेयर आॅफिसर, फ्रेंड्स आॅफ पुलिस, फ्रेंड्स आॅफ वुमेन एंड पुलिस तथा चाइल्ड लाइन को भी सतर्क रहने तथा महिला पुरुषों को जागरूक करने के साथ सोशल मीडिया पर फैलने वाली अफवाहों को रोकने में मदद करने को कहा है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close