उत्तराखंडखबर इंडिया

हरिद्वार के भंवर में फँसी कांग्रेस को प्रियंका ने निकाला बाहर!

मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए कांग्रेस की तरफ से जंग के मैदान में होंगे ये योद्धा

हरिद्वार के भवर में फँसी कांग्रेस को प्रियंका ने निकाला बाहर!

मोदी के विजय रथ को रोकने के लिए कांग्रेस की तरफ से जंग के मैदान में होंगे ये योद्धा

देहरादून। बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों के नाम का एलान कर दिया हैं। लेकिन कांग्रेस से वो कौन योद्धा होंगे जो प्रदेश में मोदी रथ को रोकने के लिए जंगे मैदान में होंगे। उस पर से अभी पर्दा पूरी तरह से उठा नहीं है। जहाँ से पर्दा उठा है वो सीट है टिहरी,पौड़ी और अल्मोड़ा। कॉग्रेस ने भले औपचारिक ऐलान ना किया हो लेकिन जो नाम शुरू से इन सीटों को लेकर सामने आ रहे थे उन लोगों ने अपना चुनाव प्रचार तेजी से शुरू कर दिया है।

कांग्रेस के संभावित प्रत्याशी में से एक मनीष खंडूडी ने पौड़ी से जनसंपर्क शुरू कर दिया है। अल्मोड़ा से प्रदीप टमटा ने अपने चुनाव कार्यालय का उद्घाटन कर दिया और टिहरी से प्रीतम सिंह ने अपनी लोकसभा सीट पर कार्यकर्ता के साथ बेठक शुरू कर दिया है।

कांग्रेस सूत्रों की मानें तो नैनीताल सीट पर चुनाव लड़ने को लेकर अड़े हरीश रावत का टिकट भी लगभग तय हो गया हैं।। लेकिन हरीश रावत के नैनीताल से चुनाव लड़ने के बाद हरिद्वार से कांग्रेस के लिए प्रतियाशी ढूँढना आलाकमान के लिए चुनौतियां बना हुआ हैं।

सूत्रों की माने तो पार्टी आलाकमान पहले वरिष्ट आईपीएस अधिकारी राजेश स्वरूप की पत्नी अनु स्वरूप के नाम पर चर्चा कर रही थी, लेकिन अनु स्वरूप का बीजेपी प्रतियाशी निशंक के सामने छोटा चेहरा होने की वजह से पार्टी आलाकमान ने अनु स्वरूप के नाम पर विचार बंद किया।जिसके बाद गांधी परिवार के क़रीबी पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के नाम पर हुई सीईसी की बेठक में चर्चा हुई।

सूत्रों की माने तो किशोर नाम आगे करने में कॉन्ग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी का काफ़ी अहम रोल हैं।उपाध्याय प्रियंका गांधी के काफ़ी क़रीबी हैं और प्रियंका के साथ कई बार यूपी में प्रचार कर चुके हैं। तो वही किशोर ने पहले ही एलान किया था की राहुल गांधी के हाथो को मज़बूत करने के लिए वो किसी भी सीट से चुनाव लड़ सकते हैं,एसे में हरिद्वार के भवर में फँसे राहुल गांधी को एक बार फिर उनकी बहन प्रियंका गांधी ने बाहर निकाला हैं। अब देखना होगा हरिद्वार के चुनावी दंगल से आखिर कांग्रेस किसको मौका देती है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close