उत्तराखंडखबर इंडिया

मुख्यमंत्री दरबार में दूर हुए दोनों विधायकों के गिले शिकवे

भाजपा के इस दिग्गज नेता की चाल से कांग्रेस हुई चित, नहीं देना होगा नोटिस का जवाब

मुख्यमंत्री दरबार में दूर हुए दोनों विधायकों के गिले शिकवे

भाजपा के इस दिग्गज नेता की चाल से कांग्रेस हुई चित, नहीं देना होगा नोटिस का जवाब

देहरादून। हरिद्वार जिले के दो विधायकों कुवंर प्रणब सिंह चैंपियन और देशराज कर्णवाल के बीच चल रही जुबानी जंग का मसला आखिरकार सुलझ गया है। जी हां मुख्यमंत्री दरबार में दोनों विधायकों की गलतफहमियां दूर हो गई।

भाजपा के दिग्गज नेता और प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल की पहल पर दोनों विधायक गुरुवार को मुख्यमंत्री से उनके आवास पर मिले। बंसल के मुताबिक दोनों विधायकों ने अब तक हुई बयानबाजी पर खेद जताया। उन्होंने बताया कि दोनों विधायकों के मध्य लम्बे समय से संवादहीनता बनी हुई थी। साथ ही आपस मे कुछ गलतफहमियां पैदा हो गई थी। अब दोनों विधायकों के गिले शिकवे दूर हो गए हैं। लिहाजा, मामला शांत होने के साथ ही अब नोटिस का जवाब देने की जरूरत नहीं रह गई है।

मुख्यमंत्री की उपस्थिति में विधायक विवाद का पटाक्षेप 
भाजपा विधायकों के बीच चल रहे विवाद का आज मुख्यमंत्री की उपस्थिति में पटाक्षेप हो गया । जहाँ दोनों विधायकों को स्पष्ट रूप से हिदायत दी गई है कि वे भविष्य में पार्टी अनुशासन के विपरीत कोई कार्य नहीं करेंगे वहीं विधायकों ने परस्पर विवाद को समाप्त मानते हुए मिलकर कार्य करने का वायदा किया। भाजपा विधायक श्री कुँवर प्रणव चैम्पियन व श्री देश राज कर्णवाल के बीच पिछले कुछ दिनों से चल रहा विवाद आज समाप्त हो गया । मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा दोनो विधायकों श्री कुँवर प्रणव चैम्पियन  व श्री देश राज कर्णवाल को अपने आवास पर बुलाया गया। इस अवसर पर हुई बैठक में भाजपा प्रदेश महामंत्री श्री नरेश बंसल भी उपस्थित थे।  बैठक में पूरे प्रकरण पर मुख्यमंत्री ने गहरी नाराज़गी दिखाई । बैठक में दोनो विधायकों को स्पष्ट हिदायत दी गई कि वे ऐसा कोई कार्य नहीं करेंगे जो पार्टी के अनुशासन के विपरीत हो । बैठक में दोनो विधायकों ने परस्पर विवाद को समाप्त मानते सौहार्द पूर्ण तरीक़े से काम करने का वायदा किया तथा आश्वस्त किया कि भविष्य में इस प्रकार की स्थिति नहीं आएगी।
कांग्रेस पर प्रहार
दूसरी ओर भाजपा प्रदेश मीडिया प्रमुख डॉ देवेंद्र भसीन ने कांग्रेस पर प्रहार करते हुए कहा कि उसे भाजपा के दो विधायकों के मामले में रुचि दिखाने  उसका समाधान होने पर परेशान होने के स्थान पर पहले अपने घर में छिड़े संघर्ष की ओर देखना चाहिए। कांग्रेस में उत्तराखंड से लेकर देश भर में जो घमासान छिड़ा है ,कांग्रेस नेताओं को उसकी चिंता करनी चाहिए। कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीमती प्रियंका चतुर्वेदी का वह बयान कांग्रेस के चरित्र को उजागर करने वाला है जिसमें उन्होंने कांग्रेस में गुंडों की महत्व दिए जाने की बात कही । उत्तराखंड का लूट कांड भी इसका ताज़ा उदाहरण है । उस पर कांग्रेस के ताजे ताजे नेता शत्रुघ्न सिन्हा को लेकर आज शुरू हुआ विवाद भी कांग्रेस नेताओं  को दिखाई देना चाहिए। सच यह है कि लोकसभा चुनाव में अपनी सुनिश्चित पराजय को देखते हुए कांग्रेस बौखलाई हुई है । उन्होंने कहा कि जहाँ तक महात्मा गांधी का सवाल है तो वे भाजपा के लिए अनुकरणीय हैं और हम उन्हें विश्व में मानवता के मसीहा के रूप में देखते हैं।
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close