उत्तराखंडखबर इंडिया

ममता के गढ़ में उत्तराखण्ड के आदित्य का जलवा

सबसे संवेदनशील सीट श्रीरामपुर में भगवा फहराने के लिए प्रचार में डटे आदित्य

ममता के गढ़ में उत्तराखण्ड के आदित्य का जलवा

सबसे संवेदनशील सीट श्रीरामपुर में भगवा फहराने के लिए प्रचार में डटे आदित्य

देहरादून। लोकसभा चुनाव 2019 के महासंग्राम में उत्तराखंड भाजपा के तमाम दिग्गज नेताओं के साथ ही कई युवानेता और बड़ी सँख्या में कार्यकर्ता देशभर के तमाम राज्यों में पार्टी का चुनाव प्रचार कर रहे हैं। उत्तराखंड के दिग्गज नेताओं के साथ ही चुनावी रणनीति में माहिर युवा नेताओं को भी विभिन्न राज्यों में प्रचार के लिए अहम जिम्मेदारियां दी गई है।

इन्हीं में से एक है युवा नेता आदित्य चौहान। भाजपा देहरादून महानगर के महामंत्री आदित्य चौहान को एक मजबूत चुनावी रणनीतिकार के रूप में जाना जाता है। राज्य के सबसे बड़े डिग्री कॉलेज में होने वाले छात्रसंघ चुनाव में ABVP की जीत में उनकी अहम भूमिका रहती है। उन्हीं की मजबूत रणनीति का हिस्सा है कि पिछले कई सालों से लगातार डीएवी में अध्यक्ष पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का ही कब्जा है। यही नहीं विधानसभा, नगर निगम, पंचायत चुनाव, में भी उन्हें समय-समय पर पार्टी द्वारा अहम जिम्मेदारियां दी जाती रही हैं।

आदित्य चौहान की इन्हीं खूबियों को देखते हुए इस बार भाजपा आलाकमान ने उन्हें ममता बनर्जी के गढ़ पश्चिम बंगाल की श्रीरामपुर लोकसभा सीट में चुनाव प्रचार की जिम्मेदारी सौंपी है।। श्रीरामपुर पश्चिम बंगाल राज्य की सबसे संवेदनशील सीटों में से एक है। यहां अभी तक हुई हिंसा में कई लोग घायल हो चुके है।

आपको बता दें कि 16 अप्रैल 2019 से आदित्य चौहान श्रीरामपुर लोकसभा सीट में पार्टी प्रत्याशी देबजीत सरकार के चुनाव प्रचार की कमान संभाल रहे हैं। आगामी 6 मई को इस सीट पर वोटिंग होनी है। आदित्य चौहान ने बताया कि श्रीरामपुर लोकसभा सीट में भाजपा के पक्ष में पूरा माहौल है। श्रीरामपुर की आम जनता एक बार फिर प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी को चाहती है। आदित्य ने कहा कि उन्होंने अभी तक इस लोकसभा के जितने भी क्षेत्रों में दौरा किया है भाजपा को जनता का भरपूर प्यार मिल रहा है। समूचे पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी विरोधी लहर चल रही है और जनता का समर्थन भाजपा के साथ है। पश्चिम बंगाल की सभी लोकसभा सीटों पर भाजपा प्रत्याशी जीत कर आएंगे।

पहले तीन चरणों में 303 सीटों पर वोटिंग पूरी

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव 2019 के लिए सात चरणों में मतदान हो रहा है। पहले तीन चरणों में 303 सीटों पर वोटिंग पूरी हो गई है। बाकी बची 240 सीटों पर अगले चार चरणों में मतदान होना है। बीजेपी के लिए सियासत की असली जंग चौथे चरण से शुरू होने जा रही है। अगर भाजपा एक बार फिर इन राज्यों में ज्यादा से ज्यादा सीटें लाने में सफल रहती है तो वह फिर केंद्र की सत्ता में आ सकती है।

चौथा चरण

चौथे चरण में 9 राज्यों की 71 लोकसभा सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होंगे। इनमें बिहार की 5 झारखंड की 3, मध्य प्रदेश की 6, राजस्थान की 13 और उत्तर प्रदेश की 13 सीटें शामिल हैं। उत्तर प्रदेश की कानपुर, अकबरपुर, जालौन, झांसी, हमीरपुर, शाहजहांपुर, खीरी, हरदोई, मिसरिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा और कन्नौज सीटों के लिए चुनाव होंगे। इसी तरह राजस्थान की बाड़मेर, जालौर, उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, राजसमंद, भीलवाड़ा, टोंक-सवाई माधोपुर, अजमेर, पाली, जोधपुर, कोटा और झालावाड़-बारा सीटों के लिए मतदान होंगे। मध्य प्रदेश में बालाघाट, छिंदवाड़ा, सीधी, शहडोल, जबलपुर और मंडला सीटों, बिहार की समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर उजियारपुर और दरभंगा सीटों के लिए और झारखंड की चतरा, पलामू और लोहरदग्गा सीटों के लिए चुनाव होंगे।

पांचवां चरण

लोकसभा चुनाव 2019 में पांचवें चरण के तहत 6 मई को मतदान होंगे। इसमें बिहार की 5, जम्मू-कश्मीर-2, झारखंड-4, मध्य प्रदेश-7, राजस्थान-12, उत्तर प्रदेश-14 और पश्चिम बंगाल की 7 सीटों पर मतदान होंगे। उत्तर प्रदेश में लखनऊ, राय बरेली, अमेठी, धौरहरा, सीतापुर, मोहनलाल गंज, बांदा, फतेहपुर, बहराइच, कैसरगंज, गोंडा, कौशाम्बी, बाराबंकी, फैजाबाद में मतदाब होंगे। वहीं, राजस्थान में जयपुर (ग्रामीण), जयपुर, अलवर, भरतपुर, श्रीगंगानगर, बीकानेर, चूरू, झुन्झुनू, सीकर, करौली-धौलपुर, दौसा, नागौर में भी वोट डाले जाएंगे। मध्य प्रदेश की होशंगाबाद सीट, बेतूल, टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा-

बिहार में सारण के अलावा हाजीपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, मुजफ्फरपुर में मतदान होगा, वहीं झारखंड में कोडरमा, रांची, खूंटी, हजारीबाग में भी लोग मतदान करेंगे।

छठा चरण

छठे चरण में सात राज्यों की 59 सीटों पर चुनाव होने हैं। इन सीटों पर 12 मई को वोट डाले जाएंगे। इस चरण में बिहार-8, हरियाणा-10, झारखंड-4, मध्य प्रदेश-8, उत्तर प्रदेश-14, पश्चिम बंगाल-8 और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में सात सीटों पर वोट डाले जाएंगे।

उत्तर प्रदेश की डुमरियागंज, बस्ती, संत कबीर नगर, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, लालगंज, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर, भदोही, अम्बेडकर नगर, श्रावस्ती सीटों पर वोटिंग होगी। मध्य प्रदेश के भोपाल, भिंड, गुना, विदिशा राजगढ़, सागर, ग्वालियर, मुरैना- बिहार की पूर्वी चंपारण सीट, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, वाल्मीकिनगर, पश्चिम चंपारण, सिवान, महराजगंज- हरियाणा की सोनीपत सीट, रोहतक, भिवानी-महेंद्रगढ़, अंबाला, कुरुक्षेत्र, सिरसा, हिसार, करनाल, गुड़गांव, फरीदाबाद सीट- झारखंड के जमशेद्पुर, सिंहभूम, गिरीडीह, धनबाद सीटों के अलावा दिल्ली में पूर्वी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिम दिल्ली, चांदनी चौक, नई दिल्ली, पश्चिम दिल्ली, दक्षिण दिल्ली में मतदान होगा।

सातवां चरण

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 8 राज्यों की 59 सीटों पर 19 मई को वोट डाले जाएंगे। इसमें बिहार-8, झारखंड-3, चंडीगढ़-1, उत्तर प्रदेश-13, मध्य प्रदेश-8, पंजाब-13, पश्चिम बंगाल-9 और हिमाचल प्रदेश-4 सीटों पर मतदान होगा।

सातवें चरण में बिहार की आरा सीट, बक्सर, सासाराम, नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, काराकट, जहानाबाद- झारखंड में दुमका, गोड्डा, राजमहल- उत्तर प्रदेश में देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, बलिया, गाजीपुर, चन्दौली, वाराणसी, मिर्जापुर, रॉबर्ट्सगंज सीट के अलावा मध्य प्रदेश के खंडवा, रतलाम, धार, देवास, उज्जैन, मंदसौर, खरगौन में वोटिंग होगी। इसके अलावा हिमाचल प्रदेश में कांगड़ा, मंडी, शिमला और हमीरपुर में वोट डाले जाएंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close