उत्तराखंडखबर इंडिया

खुलासा :- अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना में फर्जीवाड़ॉ, पकड़ में सरकारी अस्पताल का डॉक्टर

इस सरकारी अस्पताल से अपने निजी अस्पताल में मरीज भेजता था डॉक्टर

खुलासा :- अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना में फर्जीवाड़ॉ, पकड़ में सरकारी अस्पताल का डॉक्टर

इस सरकारी अस्पताल से अपने निजी अस्पताल में मरीज भेजता था डॉक्टर

काशीपुर। अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना में फर्जीवाड़े का बड़ा खुलासा हुआ है। लम्बे समय से अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना में गड़बड़झाले की शिकायतें मिल रही थी। शिकायतों के बाद जब विभाग ने इस मामले पर जांच सुरु की तो कई चोंकाने वाले खुलासे किए हैं। इस पूरे घपले घोटाले में चिकित्सक भी कार्रवाई की जद में है।

अटल आयुष्मान योजना के तहत सूचीबद्ध कुमाऊँ मण्डल के काशीपुर के निजी अस्पताल ने योजना में घपला घोटाला किया है। शुरुआती जांच में सामने आया कि अस्पताल का मालिक सरकारी अस्पताल में संविदा चिकित्सक है, जिसने फर्जी ढंग से मरीजों का इलाज करना दर्शाया है। शुरुआती जांच में फर्जीवाड़ा पकड़ में आने के बाद अस्पताल का सूची से निलंबन कर उसकी लॉग-इन आईडी ब्लॉक कर दी गई है। साथ ही दो सदस्यीय समिति मामले की जांच कर रही है।

यह मामला काशीपुर स्थित आस्था हॉस्पिटल से जुड़ा है। राज्य स्वास्थ्य अभिकरण के अधीन क्रियान्वयन समिति एजेंसी (आइएसए) ने योजना के सीईओ से मामले की शिकायत की थी। फर्जीवाड़े के संदेह में जब इस अस्पताल के बारे में पता किया गया तो एक के बाद एक खुलासे हुए। पता चला कि अस्पताल के मालिक डॉ. राजीव कुमार गुप्ता ने खुद को इस अस्पताल का एकमात्र चिकित्सक बताया था, जबकि वह एलडी भट्ट राजकीय एलोपैथिक चिकित्सालय, काशीपुर में संविदा के पद पर पूर्णकालिक चिकित्सक हैं।

सूचीबद्ध होने की तिथि से छह अप्रैल 2019 तक खुद ही 17 मरीजों को अपने अस्पताल में रेफर किया। इसके अलावा एक और सरकारी अस्पताल की फर्जी मुहर लगाकर उन्होंने 17 मरीजों को विभिन्न अस्पतालों में रेफर किया, जिनमें से सात उसने खुद के अस्पताल में भर्ती किए। प्राथमिक जांच में पाया गया कि उसने एक-एक परिवार के कई सदस्यों को एक साथ भर्ती होना दिखाया।

स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. रविंद्र थपलियाल ने बताया कि उक्त प्रकरण की जांच की जा रही है। जांच में जो तथ्य सामने आएंगे, उसी अनुसार चिकित्सक पर कार्रवाई की जाएगी।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close