उत्तराखंडखबर इंडिया

उत्तराखंड: निकाय चुनाव के बीच भाजपा को इस जिले में बड़ा झटका

उत्तराखंड: निकाय चुनाव के बीच भाजपा को इस जिले में बड़ा झटका

प्रीतम की इस चाल से हारी बाजी जीत गई कांग्रेस

भाजपा के लिए शुभ संकेत नहीं है इस उपचुनाव के नतीजे की ‘टाइमिंग’

चमोली जिला पंचायत सीट पर भाजपा को झटका, कांग्रेस की रमवती देवी बनीं अध्यक्ष

देहरादून। उत्तराखंड में निकाय चुनाव के एकतरफा जीत का दंभ भरने वाली भाजपा को करारा झटका लगा है। भाजपा को या झटका लगा है पर्वतीय जनपद चमोली में । निकाय चुनाव के बीच लगे इस बड़े झटके से भाजपा सोचने को मजबूर है । आखिर यह हुआ तो हुआ कैसे ? उत्तराखंड में चमोली जिला पंचायत सीट पर भाजपा को करारा झटका लगा है। सोमवार को हुए चुनाव में कांग्रेस की रमवती देवी अध्यक्ष पद पर निर्वाचित हुईं। जानकारी के अनुसार रमवती देवी ने दो वोट से जीत दर्ज की।

चमोली जिपं में अध्यक्ष के रिक्त पद पर जिला निर्वाचन विभाग की ओर से इसकी पुष्टि की गई है। देवर-खडोरा की जिला पंचायत सदस्य भागीरथी कुंजवाल (भाजपा) को 11 और हाट-कल्याणी की सदस्य रमवती देवी को 13 वोट मिले। वहीं दो वोट रिजेक्ट हो गए। बता दें कि जिला पंचायत सदस्य की जिले में 27 सीटें है, लेकिन पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष मुन्नी देवी शाह के इस्तीफा देने के बाद यह सीट रिक्त थी, जिससे अध्यक्ष पद के उपनिर्वाचन में सिर्फ 26 जिला पंचायत सदस्यों ने ही मतदान किया। आज सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक जिला पंचायत के सभागार में मतदान कराया गया।

अपनों ने डुबोई भाजपा की लुटिया

इस हार की वजह भाजपा के अपने ही हैं।भाजपा के हाथ से कुर्सी खिसकने की असल वजह भीतरघात, पार्टी की चिंता बढ़ा रही है। प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट की कमान में संगठन का तमाम तंत्र चमोली में सक्रिय रहा, लेकिन कांग्रेस बाजी पलटने में कामयाब रही। निकाय चुनाव में भी पार्टी भीतरघात को लेकर आशंकित है, जिसके चलते अब पार्टी नए सिरे से रणनीति बनाने में जुटी है।

चमोली जिला पंचायत की सीट भाजपा भीतरघात की वजह से हार गई। क्रास वोटिंग हार की मुख्य वजह है, जिसको लेकर स्थानीय लीडरशिप से रिपोर्ट मांगी है। निकाय चुनाव इससे पूरी तरह भिन्न हैं। पार्टी बेहद मजबूत स्थिति में है।
– अजय भट्ट, प्रदेश अध्यक्ष भाजपा

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close