उत्तर प्रदेशखबर इंडिया

रामनगर के इस युवक के लिए जान की दुशमन बनी 24 उंगलिया

धन की लालच में रिश्तेदार चढ़ाना चाहते हैं युवक की बलि

रामनगर के इस युवक के लिए जान की दुशमन बनी 24 उंगलिया

धन की लालच में रिश्तेदार चढ़ाना चाहते हैं युवक की बलि

तात्रिक ने फैलाया मायाजाल, मुहुर्त निकल गया तो बची जान

रामनगर {बाराबंकी}। दुनिया में लोग 7 अजूबों की बात करते हैं लेकिन कहते हैं कि दुनिया में कई अजूबे होते हैं। कुदरत के करिश्मों को कोई नहीं जान सकता है। हां जब यह करिश्में कभी हमें अपनी आंखों से दिखाई देते हैं तो हमें विश्वास ही नहीं होता है। ऐसा ही कुदरत का एक करिश्मा देखने को मिला रामनगर में। रामनगर थाना क्षेत्र के ग्राम गर्री के रहने वाले एक युवक के हाथ और पैर में 12-12 उंगलिया उसके जीवन की काल बन गई हैं। गांव के ही कुछ लोग धन प्राप्ति के लिए उसकी बलि देना चाहते हैं। दो वर्ष पूर्व भी अपहरण कर बलि देने की कोशिश हो चुकी है। आरोपित जेल से छूटकर आए तो अब वह फिर उस किशोर की बलि देने की फिराक में हैं। जिसके चलते किशोर व परिजन डर-डर को जिंदगी गुजारने को मजबूर हैं। वहीं, डर से पिता ने बेटे को स्कूल जाने से भी रोक दिया है। शिवनंदन के हाथ और पैर दोनों के पंजों में पाच की जगह छह-छह ऊंगलिया हैं। परिवारीजन का कहना है कि इसलिए आरोपित धन प्राप्ति के लिए उसकी बलि देना चाहते हैं। मानना है कि 24 ऊंगली वालों की बलि से धन प्राप्ति होती है।

बलि देने की थी तैयारी, मुहुर्त निकल गया तो बची युवक की जान
रामनगर थाना क्षेत्र के ग्राम गर्री निवासी पुन्नी लाल के नाबालिग पुत्र शिवनंदन को 16 जून 2016 को बदोसराय कोतवाली क्षेत्र के ग्राम मरकामऊ निवासी उनका दामाद भागीरथ बहला फुसलाकर अपहरण कर ले गया था। बदोसराय कोतवाली के मदारपुर गाव में शिवनंदन की बलि की तैयारी की गई थी। इसमें भागीरथ के साथ उसके पिता रामसागर और हंसराज सहित कुल नौ लोग शामिल थे। सारी तैयारियों के बाद मुहुर्त निकल जाने की बात कह उसे छोड़ दिया गया था।

फिर हुई युवक के अपहरण की कोशिश
वापस घर पहुंचे शिवनंदन ने घटनाक्रम बताया तो पिता ने आरोपितों पर मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें कुछ लोगों को जेल भेजा गया था। दो साल बाद जब यह लोग जेल से छूटकर आए तो एक बार फिर शिवनंदन के अपहरण की कोशिश की। 30 जुलाई की रात शिवनंदन को उसके घर से सोते समय अपहरण की कोशिश हुई। इस पर पिता ने फिर भागीरथ और उसके भाई भगोले पर मुकदमा दर्ज कराया है। नहीं हो रही कार्रवाई रूपेशे से राजगीर खुन्नीलाल का कहना है कि उसके पुत्र को धन की लालच में विपक्षित बलि दे सकते हैं। वह लगातार पुलिस से गुहार लगा रहा है और पुलिस सुनवाई नहीं कर रही है।

पुलिस करेगी बच्चे की सुरक्षा
पिता ने पुलिस की दी शिकायत में दावा किया है कि उनके रिश्तेदार बेटे को मारना चाहते हैं क्योंकि एक तात्रिक ने उनसे कहा है कि अगर वह इस तरह के बच्चे को मारते हैं तो वह धनवान बन जाएंगे। इस डर से बेटे को स्कूल जाने से भी रोक दिया है। एसपी वीपी श्रीवास्तव ने बताया कि यह प्रकरण गंभीर है और इसके लिए सीओ रामनगर को निर्देशित किया गया है। बच्चे कि सुरक्षा और विपक्षियों पर कार्रवाई दोनों सुनिश्चित होगी।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close