उत्तराखंडखबर इंडिया

300 स्क्वायर फीट का घर महज सवा लाख रूपये में बनकर तैयार

पांच घंटे में घर और दो घंटे में शौचालयय बनाइए

300 स्क्वायर फीट का घर महज सवा लाख रूपये में बनकर तैयार

पांच घंटे में घर और दो घंटे में शौचालयय बनाइए

आपको यकीन नहीं होगा लेकिन यही सच है

देहरादून। अगर आप किसी से बोलें कि आपने महज अपनी संडे की छुट्टी में अपना नया घर तैयार कर लिया है। तो लोग आपकी बातों पर यकीन नहीं करेंगे, आपकी बातों पर हसेंगे। एक दिन में तो घर की नींव नहीं खुदती और तुमने दो कमरों का घर तैयार कर दिया। ऐसे हो ही नहीं सकता पर ऐसा संभव है।
अगर आपके पास जमीन और बजट दोनों कम हैं तो आप छोटा सा घर बहुत कम कीमत पर बना सकते हैं। जीं हा यह हकीकत है, घर भी कोई ऐसा वैसा नहीं बल्कि दो कमरे और रसोई और टाॅयलेट वाला। इसके साथ ही भूकंपरोधी तकनीक से बना यह मकान पूरी तहर सुरक्षित और टिकाऊ होगा। यही नहीं यह मकान महज आपकी एक दिन छुट्टी में बन कर तैयार हो जायेगा।

ग्रामीण क्षेत्र में महज 1 लाख 25 हजार में मकान बनकर तैयार

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहतकम लागत और कम समय में घर तैयार करने का सपना सच हो रहा है । प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत दो कमरे और रसोई वाला भूकंपरोधी, सुरक्षित व टिकाऊ पूरा मकान पांच घंटे में बनकर तैयार हो जाएगा। यह मकान पूरी तरह ईकोफ्रेंडली यानी पर्यावरण हितैषी शौचालय के साथ तैयार होगा। मकान कितना ही छोटा हो, ईंट-गारा और मिस्त्री की व्यवस्था में ही दम निकल जाता है। बजट की तो बात ही छोडिए, लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना में एक प्रोजेक्ट ऐसा भी काम कर रहा है जो आपको पांच घंटे में दो कमरे, रसोई और शौचालय युक्त मकान बनाकर देगा और ग्रामीण क्षेत्र में हैं तो मात्र सवा लाख रुपये में। शहरी क्षेत्र में बनाने पर जरूर एक लाख रुपये की बढ़ोत्तरी हो जाएगी यानी सवा दो लाख रुपये में घर तैयार।

सीलन, दीमक, चटक की नहीं रहेगी चिंता

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहम मध्य प्रदेश में तैयार किए जा रहे यह मकान पर्यावरणीय दृष्टि के साथ ही भूकंपरोधी व मजबूत हैं। इस भवन को 300 स्क्वायर फीट में तैयार किया जा रहा है। भवन के चारों ओर तीन फीट की पाइल कर जमीन में दीवारों की स्लैब उतार देते हैं। इसमें एक कमरा, छोटा हाल, एक रसोई, बाथरूम और शौचालय, बाहर दोपहिया वाहन खड़े करने की जगह दी जा रही है। सीलन, दीमक, चटक आदि की चिंता से मुक्त यह भवन भी यूनीसेफ से मान्यताप्राप्त है। खास बात यह है कि जिन जिलों में भूकंप की संभावना ज्यादा रहती है वहां के लिए यह मकान और भी बेहत्तर साबित होंगे।

महज 11 हजार रुपये में शौचालय बनकर तैयार

स्वच्छ भारत मिशन के तहत मध्यप्रदेश में सरकार की ओर से पर्यावरण हितैषी शौचालयों का निर्माण कराया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट के मैनेजर संजय घाटगे बताते हैं कि वह आरसीसी के रेडीमेड शौचालय बना रहे हैं। एक शौचालय की कीमत करीब 11,000 रुपये आ रही है। आरसीसी के रेडीमैड स्लैब साइट पर ले जाते हैं, नट-बोल्ट कसते हैं और दो घंटे में पूरा शौचालय तैयार कर देते हैं। यह ऐसा शौचालय है जिसे आप मनमर्जी से जहां चाहें स्थापित कर सकते हैं। चार गुणा चार साइज वाले इस शौचालय में इसी साइज का सोकपिट (टैंक) जमीन के अंदर डाल देते हैं जिसकी दीवारें जालीनुमा होती हैं। मल इसी सोकपिट में जाता है। तरल को सोकपिट की स्लैब सोख लेती हैं और शेष हिस्सा बहुउपयोगी खाद के रूप में तब्दील हो जाता है। इसमें लगने वाली शीट भी सामान्य से हटकर है, जो कम पानी में साफ हो जाती है। शौचालय के बाहर हाथ धोने के लिए छोटा सा वॉशबेसिन व 55 लीटर की पानी टंकी भी लगी है। शौचालय के 35 साल तक टिकाऊ होने की गारंटी दी जा रही है। मप्र के 51 जिलों में इनकी आपूर्ति हो रही है।

उत्तराखंड में भी शुरू हो सकता है यह प्रोजेक्ट

वर्तमान में यह प्रोजेक्ट मध्यप्रदेश में शुरू हो चुका है और अगर उत्तराखंड सरकार की सहमति मिल गई तो यहां भी जल्द यह प्रोजेक्ट शुरू हो सकता है। फिलहाल उत्तराखंड में इसकी तैयारी चल रही है। प्रोजेक्ट मैनेजर संजय घाटगे का कहना है कि मध्यप्रदेश में 51 जिलों में प्रोजेक्ट के तहत काम किया जा रहा है। शौचालय के साथ ही अब प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत घर भी बना रहे हैं। उत्तराखंड सरकार से भी इस विषय में बात चल रही है। गौरतलब है कि उत्तराखंड में इस योजना से हजारों परिवारों को फायदा मिलेगा। राज्य में अब भी करीब 25 से 30 हजार परिवार ऐसे हैं, जिनके पास शौचालय नहीं है। जबकि आवासविहीन परिवारों की संख्या और ज्यादा है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close