उत्तराखंडखबर इंडिया

हरक सिंह ने अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश से पूछा यह सुलगता सवाल

दो दिन के अंदर दो बड़े अधिकारियों के खिलाफ हरक सिंह का हल्ला बोल

हरक सिंह ने अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश से पूछा यह सुलगता सवाल

दो दिन के अंदर दो बड़े अधिकारियों के खिलाफ हरक सिंह का हल्ला बोल

उत्तराखंड की जनता के लिये 100 बार मंत्री पद कुर्बान :- हरक

देहरादून। उत्तराखंड सरकार में वन मंत्री हरक सिंह रावत का गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है। पहले बिना अधिकारियों के विदेश दौरे को लेकर तो अब लालढांग चिल्लरखाल मोटर मार्ग के निर्माण को रोके जाने को लेकर हरक का गुस्सा सातवें आसमान पर है। दो दिन के भीतर दो बड़े अधिकारियों के खिलाफ हल्ला बोलकर हरक सिंह रावत ने अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर यह बताने का काम किया है कि उत्तराखंड में अधिकारी मनमानी कर रहे हैं।

पहले जयराज और अब ओमप्रकाश
हरक सिंह रावत ने मनमनानी करने वाले अधिकारियों के खिलाफ आवाज उठाना शुरू कर दिया है। मंत्री के बिना संज्ञान में होने के चलते जयराज के विदेश जाने के मामले के बाद हरक सिंह रावत ने अपर मुख्यसचिव ओम प्रकाश के खिलाफ लाल ढांग चिल्लरखाल मोटर मार्ग के निर्माण के रोके जाने के आदेश के बाद हल्ला बोल दिया है। मीडिया से बात करते हुए हरक सिंह रावत ने कहा कि नेशनल टाइगर आथरटी के द्धारा लाल ढांग चिल्लरखाल मार्ग के पास बम्फर जोन का संज्ञान लिये जाने के बाद मोटर मार्ग के निर्माण के आदेश पर रोक लगना गलत है। हरक सिंह रावत ने कहा कि इसके लिए उन्होने अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश को फोन कर सवाल किया कि जो जनता का पैंसा मार्ग पर खर्च हो चुका है उसकी भरपाई कोन करेगा? हरक सिंह रावत ने साथ ही कहा कि अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश की यह गलती माफ करने योग्य नहीं है। 

100 बार मंत्री पद से इस्तीफा
मीडिया से बात करते हुए हरक सिंह रावत का कहना कि यदि लाल ढांग चिल्लरखाल मार्ग के निमार्ण कार्य को रोका जाता है तो वह 100 बार मंत्री पद से इस्तीफा देने को तैयार है। सड़क का कार्य पूरा न होने तक आमरण अनशन से लेकर जेल जाने को तैयार है। हरक सिंह रावत का कहना कि कुछ लोग ये सोच रहे है कि हरक सिंह रावत अपने लिए इस सड़क की लड़ाई लड रहे है, लेकिन वह साफ कि वह जनता के लिए इस सड़क की लड़ाई को लड़ रहे जिससे कई जिलों के लोगों को इससे फायदा होगा। हरक सिंह रावत का कहना कि कुछ लोग इसलिए सड़क के काम में बाधा डालने चाहते है कि जो लोग इसी सड़क से गुजरेंगे वह सडक से गुजरते हुए हरक सिंह का नाम लेंगे, इसलिए कुछ लोग षड़यंत्र के तहत ऐसा कर रहे है।

लालढांग चिल्लरखाल मार्ग के निर्माण में नहीं लगने दूंगा रोक
हरक सिंह रावत ने साफ कर दिया है कि चाहिए कुछ भी वह लालढांग चिल्लरखाल मार्ग के निर्माण कार्य पर वह रोक नहीं लगने देंगे। चाहिए इसके लिए उन्हे कुछ भी करना पड़े। हरक सिंह के तेवर से साफ है कि हरक सिहं रावत अपनी ही सरकार के रहते अधिकारियों के काम करने के तरिके से खुश नहीं है, ऐसा में देखना ये होगा जो नाराजगी उनकी अधिकरियों के उपर दिखाई दे रही है उससे अधिकारियों के काम करने के तरीके में फरक पड़ता है या हरक सिंह रावत हरीश रावत सरकार की तरह बागी होने का रास्ता अपनाते हंै। सवाल बड़ा है जिसका जवाब भविष्य के गर्त में छिपा है।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close