उत्तराखंडखबर इंडिया

सनसनीखेज बारदात :- उत्तराखंड के इस शहर में ससुर ने दुष्कर्म के बाद बहू के साथ किया कुछ ऐसा

सास ने देखा तो उसको भी नहीं छोड़ा, इस सनसनीखेज बारदात से दहशत में पूरा शहर

सनसनीखेज बारदात :- उत्तराखंड के इस शहर में ससुर ने दुष्कर्म के बाद बहू के साथ किया कुछ ऐसा

सास ने देखा तो उसको भी नहीं छोड़ा, इस सनसनीखेज बारदात से दहशत में पूरा शहर

देहरादून। उत्तराखंड में दुष्कर्म की घटनाओं में लगातार इजाफा हो रहा है। पुलिस की सक्रियता के बावजूद घटनायें कम होने का नाम नहीं ले रही है। पहाड़ो से लेकर मैदान तक आये देन दुष्कर्म के मामले सामने आ रहे हैं। कुमांउ मंडल के किच्छा शहर में ऐसा ही एक मामला सामने अया है। किच्छा शहर के एक वार्ड में दो महिलाओं की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। ससुर ने ही रेप के बाद बहू की हत्या कर दी। पत्नी ने देखा को आरोपी ने उसे भी मार डाला। शुक्रवार को पुलिस और एसओजी की टीम ने आरोपी को रुद्रपुर से गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। कोतवाली में एसएसपी बरिन्दरजीत सिंह ने बताया कि 27 दिसंबर की शाम को नगर के एक वार्ड में सास-बहू के शव घर से बरामद हुए थे, जिनकी गला घोंटकर हत्या की गई थी।
एसएसपी ने बताया कि मामले में मृतक महिला के पुत्र ने अपने सौतेले पिता के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। शुक्रवार सुबह पुलिस ने आरोपी को रुद्रपुर से गिरफ्तार कर किया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी बताया कि घटना के दिन जब वह शाम को घर पहुंचा तो उसने शराब पी रखी थी। उस समय घर में बहू अकेली थी। नशे में उसने बहू के साथ बलात्कार किया और भेद खुलने के डर से उसने घर में पड़ी प्रेस की तार से बहू की गला दबाकर हत्या कर दी। आरोपी ने बताया कि इस बीच उसकी पत्नी आ गई तो उसने अपनी पत्नी का भी गला घोंट दिया और फरार हो गया। उसने बताया कि वह इसके बाद जयपुर और भरतपुर गया। इतने दिन वहीं बस अड्डे पर रहा। इसके बाद वह जब रुद्रपुर आया तो उसे पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर उसकी पत्नी के एक जोड़ी कुंडल और बहू का मंगलसूत्र बरामद कर लिया।
टीम को नकद इनाम
एसएसपी ने आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम को ढाई हजार रुपये नगद ईनाम देने की घोषणा की है। कोतवाल मोहन चंद पांडे ने बताया कि अतिरिक्त साक्ष्य जुटाने के लिए आरोपी का डीएनए टेस्ट कराया जाएगा।
टीम में शामिल एसओजी और पुलिस कर्मी
सीओ हिमांशु शाह, कोतवाल मोहन चंद पांडे, एसआई सतपाल सिंह पटवाल, नवीन बुधानी, कांस्टेबल इरशाद उल्ला, सुरेश बिष्ट, माधो सिंह, कुलदीप आर्य, एसओजी के प्रभारी उमेश मलिक, प्रकाश भगत, देवेंद्र कन्याल, दिनेश चंद्र, संजय धोनी, महिला कांस्टेबल तारा कोंरगा शामिल थे।
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close