उत्तराखंडखबर इंडिया

बड़ी खबर:- टिहरी लोकसभा में इस बार होगा त्रिकोणीय मुकाबला

गौ कथा वाचक संत गोपालमणि के मैदान में उतरने से बदले समीकरण

बड़ी खबर :- टिहरी लोकसभा में इस बार होगा त्रिकोणीय मुकाबला

गौ कथा वाचक संत गोपालमणि के मैदान में उतरने से बदले समीकरण

देहरादून। उत्तराखंड के मैदान और पर्वतीय भू-भाग वाली टिहरी लोकसभा सीट पर इस बार त्रिकोणीय मुकाबला देखने को मिलेगा। अक्सर भाजपा और कांग्रेस में आमने-सामने की लड़ाई वाली इस सीट पर संत गोपालमणि के आने से मुकाबला रोजक हो गया है। गौ कथा वाचक के नाम से लोकप्रिय संत गोपालमणि उत्तराखंड की आम जनता के बीच खासे लोकप्रिया हैं। गौ को राष्ट्रमाता घोषित करने के इनके अभियान को भारी जनसमर्थन मिला है। उत्तराखंड सरकार ने तो हाल ही में विधानसभा सत्र के दौरान गौ को राष्ट्रमाता घोषित करने का संकल्प भी पारित किया था। उत्तराखंड में बड़ी संख्या में इनके अनुयायी है। आज संत गोपालमणि की की जनसभा में उमड़ा जनसैलाब इस बात का सबूत है कि उनकी आम जनता के बीच मजबूत पकड़ है। उनके मैदान में उतरने से दोनों राष्ट्रीय दलों भाजपा कांग्रेस की राह इतनी आसान नहीं होगी। उत्तराखंड के विकास के मुद्दो पर चुनाव लड़़ रहे संत गोपालमणि ने टिहरी लोकसभा के चुनावी दंगल को रोचक बना दिया है।

टिहरी से रानी ने कराया नांमाकन

उत्तराखंड की टिहरी लोकसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी महारानी माला राज्य लक्ष्मी शाह आज देहरादून में नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान उनके साथ समर्थकों का हुजूम उमड़ पड़ा। माला राज्य लक्ष्मी शाह के साथ सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधायक गण व मेयर सुनील उनियाल गामा भी मौजूद रहे। दोपहर करीब दो बजे उन्होंने नामांकन पत्र दाखिल किया। शक्ति प्रदर्शन के दौरान समर्थक हाथों में भाजपा के झंडों के साथ दिखाई दिए और नरेंद्र मोदी जिंदाबाद के नारे लगाते रहे।बता दें कि उत्तराखंड के टिहरी लोकसभा क्षेत्र में भाजपा ने राजपरिवार एक बार फिर भरोसा जताया है। नामांकन करने के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए बीजेपी के टिहरी से प्रत्याशी राज्य लक्ष्मी शाह ने कहा कि विकास के एजेंडे पर वह चुनाव लड़ रही है और उनको पूरी उम्मीद है कि वह जीत कर के टिहरी लोकसभा क्षेत्र की आवाज को संसद के अंदर बुलंद करेंगी। आज महारानी राज लक्ष्मी ने नामांकन रैली से पूर्व भाजपा कार्यालय में अपने चुनाव कार्यायलय का पूर्व विधिविधान से उद्घाटन किया। महानगर कार्यालय से शुरू हुआ टिहरी प्रत्याशी का जुलूस दर्शनलाल चैक, घंटाघर, राजा रोड़ होता हुआ कचहरी पहुंचा। रैली में बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता और लोग मौजूद थे। आपको बता देंकि राजपरिवार से जुड़ी माला दो बार सांसद रह चुकी हैं। 2012 के लोकसभा उपचुनाव में उन्होंने कांग्रेस के साकेत बहुगुणा को हराया था। 2014 के चुनाव में उन्होंने उन्हें दोबारा शिकस्त दी। वहीं नामांकन करने के बाद माला राज्य लक्ष्मी शाह ने कचहरी स्थित शहीद स्थल पर जाकर शहीदों को नमन किया। रानी ने कहा कि हमारी सरकार शहीदों के सपनों को सच करेगी। जनता को प्रधानमंत्री मोदी जी की नीतियों पर पूरा भरोसा है।

कांग्रेस की तरफ से प्रीतम प्रत्याशी !
टिहरी सीट पर कांग्रेस की तरफ से प्रत्याशी के नाम का ऐलान अभी नहीं किया गया है। लेकिन माना जा रहा है कि कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह इस सीट से पार्टी के उम्मीदवार होगें। आज टिहरी सीट के लिये नामांकन पत्र भी प्रीतम सिंह ने लिया। कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि सोमवार को प्रीतम सिंह नांमाकन दाखिल करेंगे। प्रीतम सिंह की चकराता, विकासनगर, और सहसपुर विधानसभा में मजबूत पकड़ बताई जाती है। प्रीतम के चुनाव लड़ने को लेकर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में उत्साह भी देखने को मिल रहा है।

गौ कथा वाचक संत गोपालमणि के मैदान में उतरने से बदले समीकरण

टिहरी लोकसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर संत गोपालमणि महाराज ने भी नामांकन भर दिया है। राजधानी देहरादून के परेड ग्रांउड से निकली गोपालमणि महाराज की रैली में बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। रैली परेड ग्रांउड से होती हुए लैंसडौन चैक, दर्शनलाल चैक, दून मेडिकल काॅलेज से होती हुई जिला निर्वाचन आफिस पहुंची। आपको बता दें कि संत गोपालमणि महाराज एक गौ-कथा वाचक हैं। संत गोपालमणि महाराज के टिहरी सीट से निर्दलीय मैदान में उतरने से मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है। भाजपा-कांग्रेस के लिए यहाँ उनसे पार पाना आसान नहीं होगा। उनका टिहरी संसदीय क्षेत्र समेत पूरे उत्तराखंड में खासा प्रभाव है। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि जनहित के मुद्दों को लेकर जनता के सामने हैं। राष्ट्रीय संत गोपालमणि महाराज गौ सेवा को लेकर लगातार अभियान चला रहे हैं। गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने की मांग भी लंबे समय से करते आए हैं। देहरादून से लेकर टिहरी, उत्तरकाशी में महाराज के भक्तों की बड़ी संख्या है। भाजपा-कांग्रेस में भी उनके भक्त कई बड़े नेता हैं। दोनों ही दलों में उनके समर्थकों की अच्छी-खासी संख्या है। इसके अलावा गौ सेवा और गौ संरक्षण को लेकर काम करने वाले भाजपा समर्थित संगठन भी उनके साथ लंबे समय से काम कर रहे हैं। उनकी आम लोगों तक सीधी पहुंच है। उनको चुनाव में लोगों का कितना साथ मिलता है, यह देखने वाली बात होगी। गोपाल मणि महाराज ने कहा कि राष्ट्रीय पार्टिया विकास के दावे और वादे करती हैं पर धरातल पर विका दिखाई नहीं देता। वहीं संत गोपालमणि को धनौल्टी से निर्दलीय विधायक प्रीतम पंवार भी अपना समर्थन दे रहे हैं।

सीपीआईएम प्रत्याशी नांमाकन
लोकसभा सीट के लिये सीपीआईएम प्रत्याशी राजेन्द्र पुरोहित ने भी आज देहरादून कलेक्ट्रेट परिसर स्थित निर्वाचन कार्यालय में अपना नामांकन कराया। इस दौरान मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि जनता का समर्थन उनके साथ है। वह बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के मुद्दे को लेकर चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा और कांग्रेस दोनों राष्ट्रीय पार्टी के दावे और वादों से परेशान जनता उनका समर्थन जरूर करेगी।

 

Tags
Show More

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close