उत्तराखंडखबर इंडिया

नैनीताल में पर्यटकों के लिए लगे “अनोखे बैनर”

छुट्टियां मनाने नैनीताल आने की सोच रहें हैं तो सावधान

नैनीताल में पर्यटकों के लिए लगे “अनोखे बैनर”

छुट्टियां मनाने नैनीताल आने की सोच रहें हैं तो सावधान

एक बार खबर पढ़ लें, उसके बाद घूमने आने का फैसला करें

नैनीताल। नैनीताल में लगा अनोखा बैनर शहर और देशभर से आये सैलानियों के लिए चर्चा का विषय बना हुआ है। सोशल मीडिया में इस बैनर को खूब शेयर किया जा रहा है। अमूमन किसी भी शहर में जाने पर वहां स्वागत” के बोर्ड लगे होते हैं लेकिन नैनीताल के प्रमुख चैराहों और पर्यटन स्थलों पर कुछ इस तरह के बोर्ड लगे हैं। पूरी खबर कुछ इस तरह है।

छुट्टियों का सीजन चल रहा है। ऐसे में पर्यटकों की संख्या पर्यटन स्थलों पर बढ़ना लाजमी है। इस कारण कई बार यातायात व्यवस्था को संभालना मुश्किल हो ताजा है। कुछ ऐसा ही हुआ है नैनीताल में। दरअसल नैनीताल में बिगड़ती यातायात व्यवस्था के कारण नैनीताल में आपका स्वागत है” की जगह पर्यटकों को इस हिल स्टेशन की तरफ जाने वालों को सड़कों पर एक नया बैनर दिख रहा है और वो है नैनीताल हाउसफुल” का। आलम यह है कि पुलिस के पास पर्यटकों से शहर की सीमा के बाहर वाहन छोड़कर आने का आग्रह करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है।

लचर यातायात व्यवस्था से हाईकोर्ट नाराज
सरोवर नगरी नैनीताल में हुई यातायात की इस लचर व्यवस्था को सुधारने के लिए कोर्ट को आगे आना पड़ा। नाराज उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने इस पूरे मामले को लेकर अधिकारियों को लताड़ा था। कोर्ट के आदेशों का अनुपालन न करने पर हाई कोर्ट की खण्डपीठ ने डीएम नैनीताल, एसएसपी, सचिव जिला विकास प्राधिकरण, ईओ नगर पालिका के खिलाफ अवमानना की कार्रवाई के नोटिस जारी किए हैं। कोर्ट ने सभी अधिकारियों से एक हफ्ते के भीतर अपना जवाब दाखिल करने के निर्देश दिये हैं। इसके बाद यह कदम उठाया गया है। अमूमन किसी भी शहर में जाने पर वहां स्वागत के बोर्ड लगे होते हैं लेकिन नैनीताल के प्रमुख चैराहों और पर्यटन स्थलों पर ‘नैनीताल हाउसफुल’ के बैनर लगे हुए हैं। भीमताल चैराहा, काठगोदाम पुलिस चैकी चैराहा और नरीमन चैराहा पर ये बैनर लगे हुए हैं। नैनीताल के यातायात पुलिस के प्रभारी महेश चंद्र ने बताया कि ये बैनर सोमवार को लगाए गए क्योंकि अधिकारियों को यातायात को नियंत्रित करने में खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। आपको बता दें कि पिछले दिनों नैनीताल हाई कोर्ट ने एक जनहित याचिका की सुनवाई के दौरान शहर में जाम की स्थिति ना बने। इसके लिये परिवहन विभाग को निर्देश जारी किए थे।

                                                                                         हाउसफुल हो गया है नैनीताल, बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं सैलानी
यातायात अधिकारी महेश चंद्र ने बताया कि नैनीताल में 12 पार्किंग स्थल हैं, जिनमें कुल 2,000 चारपहिया वाहनों को रखा जा सकता है लेकिन शहर में प्रतिदिन तीन से चार हजार वाहन आ रहे हैं। अधिकारी ने बताया कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश से वीकेंड में सैलानियों के आने पर यातायात की स्थिति नियंत्रण से बिल्कुल बाहर हो जा रही है। यातायात अधिकारी के मुताबिक ऐसी स्थिति में हमारे पास पर्यटकों से शहर की सीमा के बाहर वाहन छोड़कर आने का आग्रह करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है. पर्यटकों के वाहनों को शहर के बाहरी इलाके कालाढुंगी, नारायण नगर, रूसी बायपास के पास अस्थायी तौर पर रोका जा रहा है।

सरोवर नगरी रविवार को पर्यटकों से गुलजार रही
सरोवर नगरी रविवार को पर्यटकों से गुलजार रही। सुबह से ही पर्यटकों का तांता लगना शुरू हो गया और देर शाम तक पर्यटक नगर में पहुंचते रहे। सुबह से पुलिस रूसी बाईपास पर मुस्तैद रही। पर्यटकों की सभी बाइकों को नगर रूसी बाईपास पर ही खड़ा करवा लिया गया। चार पहिया वाहन भी बाहर रोके गए, लेकिन पार्किंग खाली होने पर उन्हें नगर में प्रवेश दिया गया। जबकि बाइकों को पूरी तरह प्रतिबंधित रखा गया। इसका कारण नगर में बाइक पार्किंग न होना बताया गया। दिन भर में रूसी बाईपास पर 200 बाइक पार्क की गईं। बाइक से पार्किंग शुल्क 20 रुपये और चार पहिया वाहन से 100 रुपये लिया गया।

Tags
Show More

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close