उत्तराखंडखबर इंडिया

गुस्से में बहुगुणा…….

बोले राजधानी में कानून व्यवस्था के बुरे हाल

गुस्से में बहुगुणा…….

बोले राजधानी में कानून व्यवस्था के बुरे हाल

देहरादून।  गुस्से में बहुगुणा………………. बोले राजधानी  में कानून व्यवस्था के बुरे हाल हैं। बहुगुणा का गुस्सा होना भी जायज है? सरकार एक साल का जश्न मना रही है, सीएम ने जनता के सामने कानून व्यवस्था की तारीफ क्या कद दी, पुलिस आसमान में उडने लगी? शायद पुलिस को लग रहा होगा कि जब सीएम साहब खुश हैं तो बाकियों से क्या मतलब? लेकिन हकीकत ये है कि कानून के इन रखवालों का खौफ चोर-लूटेरों में बिल्कुल भी नहीं है। अगर होता तो 21 मार्च 2018 दिन बुधवार को एसएसपी देहरादून के आॅफिस से महज 25 मीटर दूर टप्पेबाज इतनी बड़ी घटना को अंजाम न देते। आखिर जब देहरादून के एसएसपी आॅफिस के सामने दिन दहाड़े टप्पेबाजी की घटना हो सकती जहां हर समय पुलिस की आवाजाही बनी रहती है तो शहर के क्या हाल होंगे इस बात का अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं। अगर शहर की लचर कानून व्यवस्था पर बहुगुणा गुस्से में हैं तो उनका गुस्सा होना भी जायज है।

टप्पेबाजों ने कार से उड़ाया बैग
टप्पेबाजों ने 21 मार्च 2018 दिन बुधवार को दिनदहाड़े प्रिंस चैक स्थित द्रोण होटल के सामने खड़ी कार का शीशा तोड़कर बैग चोरी कर लिया। शहर में लंबे समय बाद टप्पेबाजी की घटना हुई है। आशंका है कि शहर में टप्पेबाज फिर से सक्रिय होने लगा है। बरिष्ठ पत्रकार अनिल बहुगुणा ने शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। अनिल बहुगुणा अपने मित्र और पलायन एक चिंतन के संयोजन रतन सिंह असवाल के साथ होटल द्रोण पहुंचे। कार होटल द्रोण के सामने पार्क कर दोनों होटल द्रोण में अल्मोड़ा से आये अपने मित्र से मिलने चले गए। इसी दौरान टप्पेबाजों ने कार का शीशा तोड़कर उससे बैग चोरी कर लिया। बैग में सरकारी कागज, इल्क्ट्रानिक उपकरण, और कपड़े थे।

बरिष्ठ पत्रकार अनिल बहुगुणा
बरिष्ठ पत्रकार अनिल बहुगुणा

बरिष्ठ पत्रकार अनिल बहुगुणा ने कहा कि कुछ ही देर में जब वह दोनों अपने मित्र से मिलकर कार के पास वापिस आये तो क्या देखते हैं कि कार के दरवाजे वाला शीश टूटा हुआ है और कार में रखा उनका बैग गायब है। दोनों ने आस-पास के लोगों से पूछताछ भी की लेकिन कुछ हासिल नहीं हुआ। पुलिस को सूचना दी मौके पर पुलिस पहुंची। जांच पड़ताल भी शुरू हो गई है। पुलिस सक्रिय है अब देखते हैं क्या होता है? अनिल बहुगुणा ने कहा कि एसएसपी आॅफिस से चंद कदम दूर इस तरह लाॅक कार का शीश तोड़कर टप्पेबाजी की घटना होना कानून व्यवस्था पर कई सवाल खड़े करती है। बहुगुणा कहते हैं कि दिन दहाड़े इस तरह की घटना होने का मतलब है कि चोर लुटेरों में कानून का खौफ बिल्कुल भी नहीं रह गया है। 

वर्तमान में अनिल बहुुगुणा, पौड़ी गढ़वाल जिले के पौड़ी शहर में रहते हैं। वह किसी काम से देहरादून आये थे। आज वापिस पौड़ी लौटने से पहले वह अपने मित्र से मिलने द्रोण होटले पहुंचे थे तभी यह घटना घट गई।

 

आज एसएसपी देहरादून के आॅफिस से महज 25 मीटर दूर टप्पेबाज इतनी बड़ी घटना को अंजाम न देते। आखिर जब देहरादून के एसएसपी आॅफिस के सामने दिन दहाड़े टप्पेबाजी की घटना हो सकती जहां हर समय पुलिस की आवाजाही बनी रहती है तो शहर के क्या हाल होंगे इस बात का अंदाजा आप खुद लगा सकते हैं। अगर शहर की लचर कानून व्यवस्था पर बहुगुणा गुस्से में हैं तो उनका गुस्सा होना भी जायज है।

Show More

Related Articles

One Comment

  1. समस्या यही है जब एसएसपी देहरादून ऑफिस के पास 25 मीटर की दूरी पर ऐसी वारदात हो सकती है तो आदमी क्या कोई भी चीज कहीं भी सुरक्षित नहीं है , अत्याधुनिक तकनीक से लैस होने के बाद भी सब व्यवस्था चौपट पड़ी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close