उत्तराखंडखबर इंडिया

उत्तराखंड:- वन मंत्री हरक सिंह रावत की अनुपम सौगात कोटद्वार बर्ड फेस्टिवल

पक्षी प्रेमियों को करवाई जाएगी बर्ड वाचिंग, दुनियाभर के पक्षी प्रेमी कर रहे हैं शिरकत

उत्तराखंड:- वन मंत्री हरक सिंह रावत की अनुपम सौगात कोटद्वार बर्ड फेस्टिवल

पक्षी प्रेमियों को करवाई जाएगी बर्ड वाचिंग, दुनियाभर के पक्षी प्रेमी कर रहे हैं शिरकत

पर्यटन व रोजगार की दिशा में साबित होगा महत्वपूर्ण कदम

कोटद्वार को मिलेगी अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान

तीन दिवसीय बर्ड फेस्टिवल कल से होगा शुरू

अरूण शर्मा वरिष्ठ पत्रकार।
अरूण शर्मा वरिष्ठ पत्रकार।

कोटद्वार। कोटद्वार में तीन दिवसीय बर्ड फेस्टिवल कल से शुरू होने जा रहा है। दुनियाभर के पक्षी प्रेमियों को वन मंत्री हरक सिंह रावत की यह अनुपम सौगात है। कोटद्वार के पर्यटन विकास में अब चिड़ियाएं भी भागीदार बनेंगी। तीन दिन चलने वाले इस उत्सव में देशी – विदेशी पक्षी प्रेमी भी प्रतिभाग करेंगे इसके साथ ही चिड़ियों के ऊपर लिखने वाले कई लेखक भी समारोह की शोभा बढ़ाएंगे। कोटद्वार क्षेत्र में पहली बार विभागीय व्यवस्थाओं में हो रहे इस आयोजन से देश विदेश में कोटद्वार क्षेत्र को एक नयी पहचान होगी।

सात दिसंबर से होने वाले इस तीन-दिवसीय बर्ड फेस्टिवल के दौरान जहां पक्षी प्रेमियों को अलग-अलग ट्रेल्स में ले जाकर बर्ड वाचिंग कराई जाएगी, वहीं स्कूली बच्चों के लिए विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन भी होगा। इसके लिए लैंसडौन वन प्रभाग की ओर से सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं।

हरक सिंह रावत की अनुपम सौगात
वन मंत्री हरक सिंह रावत का कहना है कि निकट भविष्य में कोटद्वार क्षेत्र में बर्ड वाचिंग पर्यटन का बड़ा आधार बनेगा। कोटद्वार बर्ड फैस्टिवल खोलेगा पर्यटन के द्वार, कोटद्वार क्षेत्र को पर्यटन के नक्शे पर विश्वस्तरीय स्थान दिलाने के लिये 7 से 9 दिसंबर तक चलने वाला बर्ड फैस्टिवल मील का पत्थर साबित होगा। पहली बार हमारे विभाग द्वारा इस अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के आयोजन में सीधे भूमिका निभायी जा रही है। इस हेतु देश-विदेश से आने वाले पक्षी विशेषज्ञों व पक्षी प्रेमियों हेतु विभाग द्वारा तीन दिन के प्रवास की समस्त व्यवस्थायें की गयी हैं, इस अवधि में पक्षी प्रेमी पक्षियों के करीब से दीदार कर सकेंगे।वन विभाग की ओर से बीते सितंबर में यहां दो-दिवसीय बर्ड वाचिंग कैंप आयोजित किया गया था। इसकी सफलता के बाद अब हम तीन-दिवसीय बर्ड फेस्टिवल आयोजित कर रहे हैं। कोटद्वार क्षेत्र में बर्ड वाचिंग पर्यटन व रोजगार का बेहतर जरिया बनेगा। मेरा समस्त सम्मानित क्षेत्रवासियों व प्रदेशवासियों और देशवासियों से अनुरोध है कि इस आयोजन के साक्षी बन कोटद्वार क्षेत्र की इस छुपी हुयी नैसर्गिक सुन्दरता से साक्षात्कार करें। आपकी उपस्थिति देश विदेश से आने वाले डेलीगेट्स के उत्साहवर्धन के साथ कोटद्वार को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की पहचान देने में सहायक साबित होगा। 

कोटद्वार को मिलेगी अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की पहचान
उत्तराखंड में परिंदों की 710 प्रजाति मौजूद हैं। इनमें से करीब 350 प्रजाति तो कोटद्वार व आसपास के क्षेत्रों में ही देखने को मिल जाती हैं। बावजूद इसके परिंदों के इस विशाल संसार में झांकने की कभी जरूरत महसूस नहीं की गई। हालांकि, कोटद्वार के ग्राम काशीरामपुर तल्ला निवासी राजीव बिष्ट के स्वप्रयासों से क्षेत्र को न सिर्फ बर्ड वाचिंग में नई पहचान मिली, बल्कि बर्ड वाचिंग यहां अब स्वरोजगार का माध्यम भी बन चुका है। वन महकमा पहली बार गढ़वाल के प्रवेश द्वार कोटद्वार में बर्ड फेस्टिवल आयोजित करेगा। तीन-दिवसीय यह फेस्टिवल आगामी सात दिसंबर से शुरू होगा। इसके लिए लैंसडौन वन प्रभाग की ओर से सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। फेस्टिवल के दौरान पर्यटकों को कोटद्वार व आसपास के क्षेत्रों में बर्ड वाचिंग कराई जाएगी।

कोटद्वार बर्ड फेस्टिवल की जानकारी के लिए वेबसाइट पर विजिट करे
http://www.kotdwarbirdfestival.com
Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
Close